मेरठ। लाला लाजपत राय मेडिकल के आडिटोरियम में शनिवार को डाक्टर एथिकल सेमिनार का आयोजन किया गया। प्रधानाचार्य डॉ आर सी गुप्ता ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। मेडिकल के मीडिया प्रभारी डॉ वी डी पाण्डेय ने बताया कि प्रथम वक्ता के रूप में नेत्र रोग विभाग की जे आर डॉ कीर्ति ने मोरल एंड टेक्निकल रिस्पांसिबिलिटी ऑफ ऐन ओफ्थाल्मोलॉजि इन केसेस विद गार्डेड विसुअल प्राग्नोसिस विषय पर व्याख्यान देते हुए बताया कि हमे मरीज का इलाज करते समय किन किन बातों का विशेष ध्यान रखना है।दूसरे वक्ता के रूप में नेत्र रोग विभाग की डॉ मानसी ने एथिकल इशूज इन ग्लोबल ऑफ्थलमिक प्रैक्टिस विषय पर वृहद व्याख्यान दिया ।
नेत्र रोग विभाग की सह आचार्य डॉ अनु मलिक ने सारगर्भित तरीके से एथिकल प्रिंसिपल इन ओफ्थाल्मोलॉजी विषय पर बताते हुए कहा कि मरीज और डॉक्टरों के बीच समरसता स्थापित रखने के लिए डॉक्टरों को मरीज और उनके तीमारदारों से अच्छा व्यवहार करना चाहिए जिससे अस्पताल की कार्यवाही अच्छे से संचालित हो सकेगी मरीज के गंभीर रोगों, असाध्य रोगों तथा लाइलाज रोगों को तीमारदारों को कैसे बताया जाय यह भी विस्तार पूर्वक समझाया।नेत्र रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ लोकेश कुमार ने अपने मेडिकल कैरियर में जो अच्छा या खराब अनुभव रहा उसे भी साझा किया और कहा कि मरीज के तीमारदारों को मरीज की स्थिति के बारे में समय समय पर सूचित करते रहना चाहिए। यदि मरीजी गम्भीर अवस्था मे पहुँच जाता है तो उसके तीमारदारों को बहुत ही संवेदनशील हो कर सूचित करना चाहिए। सदैव हमे यह याद रखना है कि किसी भी तरह का कोई भी कम्युनिकेशन गैप ना होने पाये। यदि हम इस तरह की क्लीनिकल प्रैक्टिस करते हैं तो कभी भी कोई विवाद की स्तिथि उत्पन्न नही होगी। डॉ ललिता चौधरी हेड एथिकल कमेटी ने भी अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि जूनियर डॉक्टर्स हमलोगों के अनुभवों से सीख लेते हुए अपने क्लीनिक प्रैक्टिस में उन गलतियों की पुनरावृत्ति ना करें और एक अच्छे और सच्चे चिकित्सक बनकर मानवता की सदा सेवा करते रहें। मंच संचालन डॉ दीपाली मित्तल ने किया। इस अवसर डॉ ललिता चौधरी, डॉ प्रीति सिन्हा,डॉ लोकेश कुमार, डॉ अलका गुप्ता, डॉ जय श्री द्विवेदी, डॉ अंशु टण्डन, डॉ कपिल कुमार, डॉ विदित दीक्षित, डॉ अलका, डॉ मेघा, डॉ दीपाली मित्तल, डॉ अंशु सिंह, डॉ गणेश, डॉ अमरेंद्र, डॉ शरद, डॉ देवेंद्र सैनी,डॉ पंकज राठोर एवंसभी विभागों के विभागाध्यक्ष,अन्य समस्त संकाय सदस्य, नर्सिंग स्टाफ, कर्मचारी गण तथा सभी विभागों के जूनियर रेसीडेंट्स डॉक्टर्स, एम बी बी एस सत्र 2021 के छात्र छात्रायें आदि उपस्थित रहे।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.