ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (British Queen Elizabeth II) ने अपने स्थाई आवास के तौर पर लंदन (London) के बकिंघम पैलेस के बजाए बर्कशायर स्थित विंडसर कैसल (Windsor Castle) को चुना है. एक मीडिया रिपोर्ट में रविवार को ये जानकारी दी गई. महारानी साल 2020 में महामारी की पहली लहर के बाद विंडसर कैसल में होम आइसोलेशन के लिए जाने के बाद से वहीं रह रही हैं, जबकि वो पहले वीकेंड में ही कैसल जाती थीं. संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक अब महारानी ने मध्य लंदन स्थित बकिंघम पैलेस की जगह विंडसर कैसल को अपने स्थाई आवास एवं मुख्य कार्यालय आवास के तौर पर तवज्जो दी है.

महारानी ने अपने 70 साल के शाही कार्यकाल का अधिकतर समय बकिंघम पैलेस में ही बिताया है. बकिंघम पैलेस साल 1837 से ही ब्रिटिश शाही घराने का आधिकारिक आवास रहा है. अखबार ने शाही घराने के एक सूत्र के हवाले से कहा कि हाल में कोरोनावायरस संक्रमण से उबरने के बाद महारानी भविष्य की अपनी जिम्मेदारियां विंडसर कैसल से ही निभाएंगी ताकि वो अधिक यात्रा करने से बच सकें.

पिछले महीने कोरोनावायरस से संक्रमित पाई गई थी ब्रिटेन की महारानी

पिछले महीने ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय कोरोनावायरस से संक्रमित पाई गई थी. संक्रमित होने के बाद बकिंघम पैलेस के एक बयान में कहा था कि उनका इलाज जारी रहेगा और वो सभी उचित दिशानिर्देशों का पालन करेंगी. महारानी के बेटे प्रिंस चार्ल्स और उनकी पत्नी कैमिला भी इस महीने की शुरुआत में कोविड से संक्रमित पाए गए थे. शाही चिकित्सकों और महारानी के डॉक्टरों को उनके स्वास्थ्य की निगरानी का काम सौंपा गया था. उन्होंने जनवरी 2021 में अपना पहला टीका लगवाया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के कोरोनावायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मैं महारानी एलिजाबेथ के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं और उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करता हूं. इंग्लैंड में कोरोनावायरस से संक्रमित पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति को वर्तमान दिशानिर्देशों के तहत 10 दिनों के लिए आइसोलेशन में रहना होता है.

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.