नई दिल्ली। यूक्रेन में बह रही खून व आंसुओं की नदी देखकर पोप का मन रहा रहा है। उन्होंने दुनिया से इस जंग को रोकने को कहा है। वहीं दूसरी ओर यूक्रेन व रूस के बीच चल रही जंग का आज 12वां दिन है। इस बीच रूस ने नाटो देशों को चेतावनी दी है कि यदि किसी ने अपने देश में नो फ्लाइजोन किया तो उसको रूस के खिलाफ जंग माना जाएगा। दरअसल एक दिन पहले यूक्रेन ने नाटो देशों से नो फ्लाई जोन का आग्रह किया था। ताकि रूसी विमानों के हमलों को प्रभावित किया जा सके। दक्षिणी यूक्रेन में मारियोपोल से नागरिकों को निकालने का प्रयास विफल हो गया है, क्योंकि मॉस्को और कीव ने एक दूसरे पर सीजफायर को तोड़ने का आरोप लगाया है. युद्ध अब अपने 12वें दिन में पहुंच चुका है. अब तक तकरीबन 15 लाख लोगों को यूक्रेन छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इस बीच, रूसी सेना ने यूक्रेन के पड़ोसी देशों को चेतावनी देते हुए कहा है कि यूक्रेन को ‘No-Fly Zone’ घोषित करने वाले देश को युद्ध में शामिल माना जाएगा.  यूरोपीय संघ के नेता चार्ल्स मिशेल ने यूक्रेनी राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की की यूक्रेनी हवाई क्षेत्र पर नो-फ्लाई ज़ोन लागू करने की अपील पर आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा है कि ऐसा करने से विश्व युद्ध छिड़ सकता है।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.