यूक्रेन से लौटा अधिवेश, यूक्रेन में फंसा मेरठ के रोहटा रोड गोल्फकास्ट निवासी अधिवेश धामा सोमवार को सकुशल वतन वापस लौट आया। रोहटा रोड पहुंचकर भाजपा नेता विनीत अग्रवाल शारदा और दुष्यंत रोटा ने छात्र का स्वागत किया।

रोहटा रोड निवासी महेश पाल का पुत्र अधिवेश यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए गया था। सुबह प्रथम वर्ष का छात्र था। सोमवार सुबह यूक्रेन से पहले वह दिल्ली पहुंचा उसके बाद परिजन दिल्ली एयरपोर्ट से रोहटा रोड मेरठ लेकर आए। यहां उसका फूलों से स्वागत किया।

छात्र के सलामत वतन लौटने पर भाजपा नेता विनीत अग्रवाल शारदा और सामाजिक कार्यकर्ता दुष्यंत रोहटा ने उनके घर पहुंच कर छात्र का स्वागत किया। साथ ही छात्र के पिता महेश पाल धामा, माता सीमा धमा और बहन मुस्कान धामा का भी स्वागत किया। सभी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यूक्रेन में फंसे बच्चों की सलामती के साथ वापसी के लिए आभार जताया। एमबीबीएस की पढाई करने गए मेरठी छात्र रूस से जंग छिडने के बाद बड़ी संख्या में घर लौट रहे हैं। इनकी घर वापसी को लेकर भाजपा के कुछ नेताओं में घर लौटने वाले इन छात्रों का स्वागत करने की होड़ मची है। हालांकि ऐसे कुछ ही नेता हैं जो इस दौड़ में शामिल हैं। भाजपा संगठन की यदि बात की जाए तो उसने इस प्रकार की स्वागत कांड से अभी दूरी ही बनायी हुई है। स्वागत करने पहुंचने वाले भाजपा नेता आमतौर पर संकट से निकलकर घर वापसी करने वाले छात्रो की व्यथा पूछने के बजाए इस पूरे घटनाक्रम को संगठन के लिए एक इवेंट बनाने पर तुले हुए हैं। हालांकि शुरूआत की बात की जाए तो सांसद राजेन्द्र अग्रवाल सकुशल घर लौटने वाले छात्रों से मिलने वाले पहले नेताओं में शामिल हैं। उनके बाद भाजपा के कई नेताओं ने उन्हीं की तर्ज पर घर लौटने वाले छात्रों से मुलाकात का सिलसिला शुरू कर दिया। पार्टी के एक पुराने नेता ने नाम न छापे जाने की शर्त पर बताया कि सांसद को यदि अपवाद मान लिया जाए तो बाकि की मंशा केवल आला कमान की नजरों में आने के लिए हाथ पांव मारने से ज्यादा कुछ भी नहीं।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.