रूस के दुश्मन देशों में अमेरिका भी, रूस और यूक्रेन की जंग का आज 12वां दिन है. दोनों देशों की सेनाओं के बीच संघर्ष जारी है. आज अंतर्राष्ट्रीय अदालत (ICJ) में भी रूस और यूक्रेन को लेकर सुनवाई हो रही है. इस सुनवाई से रूस ने दूरी बना ली है. रूस का कोई भी प्रतिनिधि यहां नहीं पहुंचा है. इसी बीच चीन की मीडिया ने दावा किया है कि रूस ने अपने दुश्मन देशों की लिस्ट को मंजूरी दे दी है. इसमें अमेरिका, यूक्रेन समेत 31 देश शामिल हैं. चीन की मीडिया CGTN ने दावा किया है कि रूस ने अपने दुश्मन देशों की लिस्ट को मंजूरी दे दी है. इस लिस्ट में यूक्रेन के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, जापान और यूरोपियन यूनियन के सदस्य देश शामिल हैं. यूरोपियन यूनियन में 27 देश हैं. रूस ने यूक्रेन के विनित्सिया एयरपोर्ट पर भीषण हमला किया है. इस एयरपोर्ट पर रूसी मिसाइलों ने कहर बरपा दिया है. इस हमले में पूरा एयरपोर्ट ढह गया है. एयरपोर्ट पर आग लग गई है और इसे बुझाने की कोशिशें जारी है. बता दें कि आज युद्ध 12वां दिन है और रूस ने यूक्रेन पर हमला तेज कर दिया है.  वहीं दूसरी ओरसंयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अदालत ने रूस के खिलाफ सुनवाई को खारिज कर दिया है. यूक्रेन ने रूस के खिलाफ इंटरनेशनल कोर्ट में अर्जी दी थी. इस मामले की सुनवाई हेग में हो रही थी. यूक्रेन ने कहा है कि रूस उसके देश में सैन्य कार्रवाई को तुरंत रोके. सोमवार की सुबह सुनवाई शुरू होते ही अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में रूसी वकीलों के लिए रिज़र्व की गई सीटें खाली पड़ी थीं. रूसी रक्षा मंत्रालय का दावा किया है कि यूक्रेन में छह मानवीय कॉरिडोर खोले जाएंगे. रूस ने तीन यूक्रेनी Su-27 लड़ाकू विमान, एक Su-25, दो हेलीकॉप्टर और 8 ड्रोन को मार गिराया है. इसके अलावा, रूसी समर्थक अलगाववादियों ने मारियुपोल में आक्रमण किया, शहर के पश्चिमी भाग में लड़ाई हुई.

यदि हमले के शिकार हो गए तो

यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की का ठिकाना हाल के दिनों में रहस्य में है. युद्ध के बीच आखिर जेलेंस्की कहां है? उन्होंने दावा किया था कि वह देश की राजधानी कीव नहीं छोड़ेंगे. इससे पहले, ज़ेलेंस्की ने यह भी दावा किया था कि वह रूसी सैन्य अभियान का “नंबर 1 टारगेट” थे. उन्होंने यह भी कहा कि उनके जीवन और उसके परिवार के ये हमला सीधा खतरा था. इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि यूक्रेनी अधिकारियों के पास एक योजना है, अगर राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की देश में चल रहे रूसी सैन्य अभियान का शिकार भी हो जाते हैं और उनकी मौत भी हो जाती है तो यूक्रेन के पास एक योजना है जिसकी वजह से यूक्रेन में वहां की सरकार कायम रहेगी.  अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने एक इंटरव्यू में कहा, “यूक्रेनी के पास योजना है कि मैं इस बारे में बात नहीं करने जा रहा हूं या किसी भी डिटेल में नहीं जा रहा हूं कि लेकिन यह तय है कि यूक्रेन में सरकार की निरंतरता ‘continuity of government’जारी रहेगी. ऐसा किसी भी तरह से होगा ही.”

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.