विश्विद्यालय में व्याख्यान, विधि अध्ययन संस्थान, चौ0 चरण सिंह विश्वविद्यालय परिसर, मेरठ में दिनांक 23-04-2022 को श्विधि के क्षेत्र मे विघार्थियों के रोजगार के अवसर पर विशेष व्याख्यान  का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन संस्थान के समन्वयक डा0 विवेक कुमार  ने किया। कार्यक्रम का संचालन आशीष कौशिक  ने किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश डा0 विजय कुमार  ने कहा कि वर्तमान समय में विधार्थिगण विधि विषय की ओर आकर्षित हो रहे है। इस विषय मे बी0ए0-एलएल0 बी0, एलएल0 बी0, एल0-एल0 एम0 तथा पीएचडी पाठ्यक्रम मे प्रवेश लेकर अपना कैरियर संभाल सकते है। उनके द्वारा कहा गया कि विधि का क्षेत्र बहुत व्यापक क्षेत्र है इस क्षेत्र मे यह सौभाग्य कि बात है कि राष्ट्रवाद केन्दिªत बहुमुखी विकास के लिए संविधान को समझने कि समस्त नागरिको कि आवश्यकता है। विधि के विघार्थियों को संविधान की समस्त जानकारी प्राप्त होती है। तथा साथ ही यह भी बताया कि इस क्षेत्र मे व्यक्ति किसी भी पद पर अपनी क्षमता अनुसार अवर न्यायालय मे न्यायाधीश, उच्चतर न्यायिक सेवा एवं उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय में सीधे न्यायाधीश बन सकता है। तथा वकालत और कौरपोरेट क्षेत्र मे भी कीर्तिमान स्थापित किये जा सकते है। उन्होने मुख्य न्यायमूर्ति रंजनगोगई की पुस्तक जस्टिस फॉर जजेस को उद्वघरित करते हुए न्यायाधीशो की जीवनशैली एवं कार्यशैली से अवगत कराया। विधि के विषय के जानकारो मे राष्ट्रपिता महात्मा गॉधी, डा0 राजेेन्द प्रसाद, डा0 भीमराव अम्बेेडकर, स्वामी विवेकानन्द जैसे महान लोग भी विधि विषय से संबंधित थे। सामाजिक जीवन मे सर्वाधिक लाभ गृहणियों, कामकाजी महिलाओं, को होता है उनका जीवन स्तर अन्य की अपेक्षा आत्मविश्वास से भरा होता है। कानून के अध्ययन के उदेश्य को समझाते हुए विधि के क्षेत्र मे रोजगार के अवसर की जानकारी दी।
कार्यक्रम मे पो्र0 एच0 पी0 सिंह ने अध्यक्षता की। विधि संस्थान के समन्वयक डा0 विवेक कुमार जी ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि विधार्थियों को पूरी लगन एवं परिश्रम से अपनी परीक्षाओं की तैयारी करनी चाहिए। और भविष्य मे नैतिक मूल्यो का ध्यान रखते हुए एक अच्छा जज, अधिवक्ता तथा एक अच्छा शिक्षक बनकर समाज एवं राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए। कार्यक्रम मे श्रीमति सुदेशना ,डा0 विकास कुमार, डा0 सुशील कुमार शर्मा, श्रीमती अपेक्षा चौधरी, श्रीमती मोनीका, डा0 धनपाल सिंह,, डा0 महिपाल, डा0 मीनाक्षी जी, अपूर्व जी, तरून जी और विधि अध्ययन संस्थान के बी0ए0-एलएल0 बी0 एवं एल0-एल0 एम के छात्र-छात्राऐ आदि उपस्थिति रहे।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *