हिंसा पर दिल्ली पुलिस का यूटर्न, नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी के जहांगीरपुरी इलाके में बीते 16 अप्रैल को हुई सांप्रदायिक झड़प के दौरान गोलीबारी करने वाले 28 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है. अधिकारियों ने बताया कि आरोपी की पहचान जहांगीरपुरी के सी-ब्लॉक निवासी सोनू उर्फ इमाम उर्फ यूनुस के रूप में हुई है. इसके अलावा  दिल्ली पुलिस ने बिना अनुमति शोभा यात्रा निकालने के लिए इसके आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था. शुरुआत में इस एफआईआर में विश्व​ हिंदू ​परिषद और बजरंग दल का नाम शामिल किया गया था, लेकिन बाद में इसे हटा दिया गया. गिरफ्तार व्यक्ति को भी जमानत दे दी गई है. हिंसा के दौरान पिस्तौल लहराने वाले युवक के संबंध में पुलिस उपायुक्त (उत्तर-पश्चिम) उषा रंगनानी ने कहा, सोशल मीडिया  पर एक वीडियो प्रसारित किया जा रहा था, जिसमें जहांगीरपुरी में दंगों के दौरान नीली शर्ट में एक व्यक्ति गोलियां चलाते हुए दिखा था. उसे उत्तर-पश्चिम जिले के स्पेशल स्टाफ ने पकड़ लिया है.’ डीसीपी रंगनानी ने बताया, ‘आर्म्स एक्ट की धारा 25 के तहत एक मामला दर्ज किया गया है. सोनू ने स्वीकारा है कि उसने घटना के दौरान कुशल चौक के पास गोली चलाई थी. आगे की जांच जारी है.’ पुलिस ने कहा कि उन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो से उसकी पहचान की है. पुलिस ने बताया, ‘एक इनपुट पर कार्रवाई करते हुए उसे मंगल बाजार रोड से उत्तर-पश्चिम जिले के स्पेशल स्टाफ ने पकड़ा. उसके पास से एक पिस्तौल भी बरामद हुई है.’ पुलिस ने बताया कि जैसे ही पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई जहांगीरपुरी में पत्थरबाजी शुरू हो गई. शनिवार (16 अप्रैल) की झड़प वाली जगह के पास एक छत से ईंट-पत्थर फेंके गए और पुलिस व रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) के अधिकारियों ने इलाके को ब्लॉक कर दिया. उषा रंगरानी ने बताया कि जब पुलिस टीम उसके (आरोपी) के घर पहुंची तो विरोध में परिजनों ने उन पर दो पत्थर फेंके. एक पत्थर इंस्पेक्टर सतेंदर खारी को लगा, उनके टखने में चोट आई है. कानूनी कार्रवाई की जा रही है. एक मामला दर्ज कर लिया है.

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.