हस्तिनापुर कस्बे के पांडव टीले पर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम द्वारा चलाए जा रहे उत्खनन में शनिवार को 2300 वर्ष पुराने प्राचीन अवशेष मिले हैं। खुदाई के दौरान मिले अवशेषों के आधार पर पुरातत्व विभाग के अधिकारियों का मानना है कि यह अवशेष मौर्य काल के हैं। जिसमें प्राचीन ईटों की दीवार, कांच के मनके, तांबे के सिक्के आदि सैकड़ों प्राचीन अवशेष प्राप्त हुए हैं। जिन्हें कार्बन डेटिंग के लिए सुरक्षित रख लिया गया है। कुरूवंश की राजधानी हस्तिनापुर में इन दिनों पुरात्व सर्वेक्षण विभाग खुदाइ का कार्य कर रहा है। देश भर से विशेष यहां खुदाई के काम पर नजर रखे हुए हैं। कुछ ने हस्तिनापुर में ही डेरा डाला हुआ है। पांच दिन पूर्व सांसद राजेन्द्र अग्रवाल भी खुदाई के काम का जायजा लेने को हस्तिनापुर पहुंचे थे।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.