एडीएम सिटी से मिले मंडप कारोबारी

एडीएम सिटी से मिले मंडप कारोबारी, भू जल दोहन को लेकर एनजीटी के निर्देश पर यूपी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व केंद्रीय भूमि जल बोर्ड के नए निर्देशों को लेकर मंडप कारोबारी बुधवार को विपुल सिंहल की साथ एडीएम सिटी दिवाकर सिंह से मिले। यहां एक बैठक भी दिवाकर सिंह की अध्यक्षता में हुई। दरअसल  एनजीटी नई दिल्ली के निर्देशों पर उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं केंद्रीय भूमि जल बोर्ड के अधिकारियों को संयुक्त निरीक्षण समिति के गठन हेतु नियुक्त किया गया। संयुक्त निरीक्षण समिति के द्वारा लखनऊ, कानपुर, आगरा, मेरठ, गौतमबुध नगर, बरेली, वाराणसी, झांसी और गोरखपुर के होटल, मैरिज हॉल, रिसोर्ट, गेस्ट हाउस आदि को सक्षम अधिकारी से अनापत्ति प्रमाण पत्र एनओसी के बिना भू जल निकासी पर जांच एवं उपचारात्मक कार्यवाही के साथ तथ्यात्मक रिपोर्ट आगामी 4 अप्रैल तक एनजीटी को प्रेषित करनी है। आशीष कुमार गुप्ता एई ग्राउंड वाटर डिपार्टमेंट ने बताया कि भूजल विभाग की वेबसाइट पर जाकर लिंक के माध्यम से अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए कोई भी व्यवसायी आवेदन कर सकता है। इस आवेदन फार्म में सभी जानकारी उपलब्ध कराते हुए सरकारी मान्यता प्राप्त लेबोरेटरी से पानी की जांच रिपोर्ट के साथ ₹5000 जमा कर अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना होगा। मेरठ मंडप एसोसिएशन के महामंत्री विपुल सिंघल ने एडीएम सिटी से निवेदन किया की बहुत जल्दबाजी में मेरठ के सभी होटल मंडप रिजॉर्ट द्वारा आवेदन किया जाना बहुत मुश्किल है। जानकारी का भी अभाव है और साथ ही पानी की जांच रिपोर्ट भी 15 दिन से 1 महीने में आएगी। एडीएम सिटी  को आश्वस्त कराया गया कि शीघ्र अति शीघ्र सभी मंडप व होटल स्वामी भूजल विभाग में अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने का पूर्ण प्रयास करेंगे। एडीएम सिटी दिवाकर सिंह जी ने भूजल विभाग व प्रदूषण विभाग से सभी व्यापारियों को जानकारी मुहैया कराने तथा उनकी मदद करते हुए आवेदन कराने के लिए कहा। इस बैठक में आशीष कुमार गुप्ता ए ई ग्राउंड वाटर डिपार्टमेंट मेरठ, विकास कुमार असिस्टेंट हाइड्रोलॉजिस्ट सेंट्रल ग्राउंड वॉटर बोर्ड लखनऊ, प्रखर कुमार ए ई पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड तथा मेरठ मंडप एसोसिएशन एवं मेरठ हेटेलीर्स एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन से महामंत्री विपुल सिंघल मौजूद रहे।

@HOME

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.