अवैध निर्माण पर बुलडोजर

अवैध निर्माण पर बुलडोजर, शामली। शहर के रेलपार में एमडीए ने बडी कार्यवाही करते हुए 127 बीघा कृषि भूमि पर काटी जा रही अवैध कालोनी को बुल्डोजर की सहायता से ध्वस्त करा दिया गया। इस दौरान चार दीवारियों को तोड दिया गया वही कालोनी में बनाए गए कमरे भी ध्वस्त कर दिये गए। ध्वस्तीकरण की कार्यवाही को लेकर एमडीए के साथ पुलिस प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। इसके अलावा गांव कुडाना व दयानंदनगर सहित करीब आधा दर्जन कालोनियों पर एमडीए का बुल्डोजर चला है।  मुजफ्फरनगर विकास प्राधिकारण के जेई राजीव त्यागी के नेतृत्व में पुलिस व प्रशासनिक टीम के अधिकारियों ने शहर के रेलपार में बडी कार्यवाही करते हुए 127 बीघा कृषि भूमि पर बिना नक्शा पास कराये काटी जा रही अवैध कालोनियों को बुल्डोजर की सहायता से ध्वस्त कर दिया। ध्वस्तीकरण में बुल्डोजर की सहायता से प्लाटिंग के लिए बनाई गई सडक व चार दीवारियों को तोड दिया गया। कई कालोनियों में बनाए गए कमरों को भी बुल्डोजर से ध्वस्त कर दिया गया। एमडीए की टीम को भारी पुलिस फोर्स व प्रशासनिक टीक के साथ आता देख मौके पर मौजूद प्लाटिंग करने वाले लोग भाग खडे हुए। पूरे ध्वस्तीकरण की सुरक्षा के लिहाज से उपजिलाधिकारी बृजेश कुमार के निर्देशन में प्रशासनिक टीम द्वारा वीडियोंग्राफी की गई। एमडीए के जेई राजीव त्यागी ने बताया कि कालोनी बनाने वाले ोगों को कई बार नोटिस देकर नक्शा पास कराये जाने की हिदायत दी गई थी, लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नही दिया गया, जिसके तहत गुरूद्वारा को बुल्डोजर की सहायता से ध्वस्तीकरण कराया गया। इसके अलावा गांव कुडाना में 16 बीघा व शामली के दयानंदनगर में 15 बीघा भूमि पर भी की गई अवैध कालोनी का ध्वस्तीकरण किया गया है। आगे नियम अनुसार कार्यवाही की जायेगी। इस दौरान भारी पुलिस फोर्स मौजूद रहा।

सड़क सुरक्षा सप्ताह बना मखौल

शामली। चतुर्थ सडक जारूकता सप्ताह चल रहा है, लेकिन शहर की सडकों पर ट्रिपल राईडिंग करने वाले युवा अभी भी दौडते नजर आ जाते है, जो यातायात के नियमों का उल्लंघन कर सीधा मौत को दावत दे रहे है। शहर के किसी भी चैराहे पर ट्रेफिक पुलिसकर्मियों व परिवहन विभाग के अधिकारियों द्वारा कोई कार्यवाही न किए जाने से स्कूली छात्र भी बाईकों पर नियमों की खूब धज्जियां उडा रहे है। 18 अप्रैल से 24 अप्रैल तक चतुर्थ सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाये जाने के निर्देश दिये जा चुके है। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.