उत्तर प्रदेश में भाजपा के दुबारा सत्ता में आने के बाद से बुलडोज़र कार्रवाई में तेज़ी आई हैं. मेरठ में एमडीए प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जगन्नाथपुरी में सात अवैध दुकानों को ध्वस्त कर दिया. ये दुकानें ढाई लाख के इनामी कुख्यात बदन सिंह बद्दो की से जुड़ी अवैध संपत्ति के रूप में चिन्हित की गई थीं. ढाई लाख के इनामी फरार बदन सिंह बद्दो से जुड़ी एक और अवैध संपत्ति पर एमडीए और पुलिस की मौजूदगी में बुलडोजर चलाया गया. गुरुवार सुबह शहर के दिल्ली रोड स्थित जगन्नाथपुरी में अजय सहगल की सात दुकानें ध्वस्त कर दी गईं. इस मामले में शासन स्तर से कार्रवाई की गई है. दरअसल, पिछले एक महीने में इन दुकानों को ध्वस्त करने के लिए एमडीए अधिकारियों को शासन में बुलाया गया था. इससे पहले 15 मार्च 2022 को भी इसी स्थान पर दुकानों को ध्वस्त किया गया था. एमडीए अधिकारियों के मुताबिक 1500 वर्ग मीटर के पार्क को घेरकर अवैध दुकानों को बनाया गया है। इसी कारण कार्रवाई की जा रही है। जबकि अजय सहगल का कहना है कि प्रशासन ने उनकी कोई बात नही सुनी है. ये मामला हाईकोर्ट में विचाराधीन है. वहीं, कागज़ों में भी कही पर भी पार्क का जिक्र नही है. मेरठ में परिपेक्ष्य में यदि बड़ी कार्रवाई की बात की जाए तो बसपा नेता मीट कारोबारी हाजी याकूब के बाद माफिया डॉन बदन सिंह बद्दो की टीपीनगर स्थित संपत्ति पर प्रशासन की यह बड़ी कार्रवाई है. हालांकि एक दिन पहले यानि बुधवार को इसकी पठकथा तैयार कर ली गयी थी.  कुख्यात बद्दो की मेरठ नहीं बल्कि देश के कई राज्यों की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है. क्योंकि फरारी के बाद जो जख्म खाकी को बदन सिंह बद्दो देकर गया है वो अभी भी हरे हैं. लेकिन हैरानी भी इस बात की है कि इस कुख्यात डॉन को जमीन निगल गयी या आसमान निगल गया, जो इसकी परछाई पर पुलिस पांव तक नहीं रख पा रही है. ऐसा नहीं कि पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी हो, सबसे महत्वूर्ण सुरागकशी है, जिस दिन इस कुख्यात का सुराग पुलिस को मिल जाएगा, इसको इसके अंजाम तक पहुंचने में पल भर की भी देरी नहीं की जाएगी. वहीं दूसरी ओर यह भी माना जा रहा है कि जो भी गतिविधियां चल रही हैं उनसे बदन सिंह बेखबर हो, ऐसा हो नहीं सकता. बदन सिंह बद्दो के नेटवर्क की पुलिस भी कायम है, लेकिन बड़ा सवाल यही कि इस नेटवर्क को पूरी तरह से ध्वस्त कर पुलिस कब इस शातिर को शिकंज में डाल पाएगी. पुलिस और बदन सिंह बद्दो की आखरी मुलाकात दिल्ली रोड स्थित मुकुट महल में हुई थी. जहां पेशी के बाद पुलिस वाले उसको उसके साथियों से मिलाने के लिए लेकर पहुंचे थे. वहां तगड़ी दावत चली थी. उसी का फायदा उठाकर शातिर पुलिस को गच्चा देकर फरार हो गया था.

 

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.