बमों की बारिश में जेलेस्की

बमों की बारिश में जेलेस्की, रूस यूक्रेन की जंग के बीच एक बार फिर से यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा कि वह किसी से भी नहीं डरते. उन्होंने कीव में  ये बात साफ तौर पर कही है कि मैं किसी से नहीं डरता. बता दें कि इससे पहले भी जेलेंस्की कई बार अपने देश की जनता में हौसला भर चुके हैं. वह लगातार लोगों से जंग लड़ने और हार नहीं मानने के लिए उनकी हौसलाअफजाई कर रहे हैं. यूक्रेन मार्शल लॉ के तहत सिपाहियों, पुलिस, नेशनल गार्ड और अन्य सैन्य व आपातकालीन सेवाओं के कर्मचारियों को $1,000 मासिक भुगतान करने का ऐलान किया गया है. यूक्रेनी मीडिया के मुताबिक सरकार ने ये फैसला किया हैयूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की मंगलवार को रात 10:30 बजे यूके हाउस ऑफ़ कॉमन्स में भाषण देंगे. बता दें कि जब से जंग शुरू हुई है तब से जेलेंस्की यूएन को संबोधित करने के साथ ही देश को भी कई बार वीडियो मैसेज दे चुके हैं. बमों की बारिश में जेलेस्की, इस बीच रूस पर प्रतिबंधों का दौर जारी है. बता दें कि अब जापान ने भी रूस पर पाबंदी लगा दी है. बता दें कि जापान ने रूस को तेल शोधन उपकरणों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है. जापान की ओर से कहा गया है कि वह अब रूस को तेल शोधन के उपकरण मुहैया नहीं कराएगा. रूस और यूक्रेन युद्ध का आज 13वां दिन है. दो बार की बैठक बेनतीजा रहने के बाद सोमवार को दोनों देशों के बीच फिर से तीसरे दौर की बातचीत हुई, लेकिन नतीजा फिर सिफर रहा. हालांकि, इस बैठक में शहरों में फंसे नागरिकों के लिए मानवीय गलियारा बनाने पर कुछ सकारात्मक चर्चा जरूर हुई है. बता दें कि आज फिर से ह्यूमन कॉरिडोर खोला जाएगा. उधर, संयुक्त राष्ट्र की एक एजेंसी ने बताया कि रूस के हमले के बाद से अब तक 17 लाख से ज्यादा यूक्रेनी देश छोड़ कर मध्य यूरोप पहुंचे हैं. यूक्रेन पर जारी रूसी हमलों के 13 दिन हो गए हैं. यूक्रेन के शहरों पर रूस की बमबारी, मिसाइल हमले, रॉकेट अटैक और सैनिकों से आमने-सामने की जंग जारी है. @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.