कैंट में रातों रात पोस्टर चस्पा

कैंट में रातों रात पोस्टर चस्पा, इंटेलीजेंस के रडार पर कैंट घमासान, कैंट बोर्ड में मची घमासान https://www.etelligens.com/इंटेलीजेंस के रडार पर है। कैंट बोर्ड के पूर्व सीईओ जिन्होंने अभी भी सरकारी बंगले मे आशियाना बनाया हुआ है तथा माल रोड स्थित कैंट बोर्ड के गेस्ट हाउस आशियाना में डेरा डाले कैंट बोर्ड के नवागत सीईओ ज्योति कुमार सिंह के लिए शुक्रवार की सुबह को मिली खबर शायद ब्रेक फास्ट पर चाय का जायका खराब करने वाली साबित हो। पूरे कैंट क्षेत्र में रातों रात नागेन्द्र नाथ को लेकर आपत्तिजनक पोस्टर चस्पा कर दिए गए हैं। सीईओ सरीखे अधिकारी जो अभी भी स्टेशन पर डटे हुए है, उनके खिलाफ किसी कर्मचारी की तो इस प्रकार के आपत्ति जनक पोस्टर लगाने की हिमाकत नहीं हो सकती। पोस्टरों की भाषा इस कदर आपत्ति जनक है कि उसका यहां लिखा नहीं जा सकता। इन पोस्टरों में नागेन्द्र नाथ पर लगा गए आरोपों की सीबीआई से जांच कराए जाने की भी बात कही गयी है। कैंट बोर्ड पिछले कई दिनाें से सुलग रहा था। गुरूवार को जब संविदा सफाई कर्मचारियों ने आशियाना गेस्ट हाउस जहां नवागत सीईओ ने फिलहाल आशियाना बनाया हुआ है, वहां पहुंचकर जब हंगामा किया उसके बाद हालात विस्फोटक हो गए। प्रदर्शनकारी संविदा कर्मी केवल आशियाना तक ही नहीं पहुंचे बल्कि सरकारी बंगला जहां नागेन्द्र नाथ अभी भी रूके हैं, वहां पहुंचकर भी अपनी नाराजगी का इजहार किया। इसके बाद भीतर ही भीतर जो गुबार उठ रहा था वह लाबा बनकर बह रहा है। कब क्या होगा कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी, लेकिन अब सुनने में आ रहा है कि थाना सदर बाजार में आरोपाें को लेकर FIR करायी जा सकती है। FIR कौन कराएगा इसको लेकर माना जा रहा है कि सोमवार या मंगलवार में तस्वीर साफ हो सकती है। वहीं दूसरी ओर नागेन्द्र नाथ की हाईकोर्ट में दायर अर्जी में सुनवाई का नतीजा आना अभी बाकि है। जानकारों की मानें तो जो कुछ मेरठ कैंट बोर्ड में इन दिनों चल रहा है उसको लेकर मिनिस्ट्री भी बेखबर नहीं। इसी के चलते इंटेलीजेंस भी तमाम घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है। पल-पल की जानकारी को अपडेट किया जा रहा है। लेकिन इतना तय है कि क्लाइमेक्स के लिए अभी इंतजार करना होगा।

@ Back Home

 

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.