चित्रा त्रिपाठी व दीपक चौरासिया समेत कई पत्रकारों पर शिकंजा

चित्रा त्रिपाठी व दीपक चौरासिया समेत कई पत्रकारों पर शिकंजा, गोदी मीडिया सरीखे आरोपों से घिरे चित्रा त्रिपाठी व दीपक चौरासिया समेत कई पत्रकारों पर कोर्ट का शिकंजा कसता नजर आ रहा है। पोस्को एक्ट के तहत सुनवाई कर रही गुड‍़गाव के जिला व सत्र न्यायालय ने इन तमाम पत्रकाराें को 25 मार्च शुक्रवार को कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए हैं। जिन पत्रकारों को समन किया गया है उनमें अजीत अंजुम, ललित सिंह, सुनील दत्त, राशिद, मोहम्मद साहिल, दीपक चौरासिया व चित्रा त्रिपाठी भी शामिल हैं। यह पूरा मामला साल 2013 जुलाई की दो तरीख का है, पालम विहार क्षेत्र में आशाराम बापू अपने एक अनुयायी के यहां आए थे। उन्होंने परिवार की एक छोटी दस वर्षीय बच्ची को आर्शीवाद दिया था। जो पत्रकार कोर्ट ने तलब किए हैं उन पर आरोप है कि उन्होंने उक्त मामले को लेकर जो वीडिया बनायी उसको तोड़ मरोड कर पेश किया गया। जिसकी वजह से आशाराम बापू व बच्ची तथा परिवार के तमाम सदस्यों को सामाजिक व मानसिक कष्ट भी झेलना पड़ा।  पीड़ित परिवार ने आहत होकर पालम विहार थाना में एफआईआर दर्ज करायी थी, लेकिन पुलिस ने उसमें कारगुजारी दिखा दी। जीरो एफआईआर दर्ज कर पल्ला झाड लिया। जिसके बाद एक सामाजिक संस्था इस परिवार की मदद को आगे आयी। मामला काेर्ट में जा पहुंचा। पिछली तारीख पर भी आरोपी बनाए गए मीडिया कर्मी तलब किए गए थे, लेकिन इनमें से काेई भी नहीं पहुंचा। लेकिन इस बार कोर्ट ने सभी को 25 मार्च को तलब किया है। पत्रकार दीपक चौरसिया, चित्रा त्रिपाठी, अजीत अंजुम, मोहम्मद सोहेल उर्फ शाहिद जैसे तमाम लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती है। दरअसल एक मामले में कई लोगों पर कार्रवाई होने का खत’रा मंड’रा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक नाबालिक के वीडियो को तोड़ मरोड़ कर पेश करने के एक मामले में पुलिस कार्रवाई करने जा रही है। इस मामले के तहत साल 2015 में पालम विहार थाना में दर्ज पोक्सो एक्ट के अंतर्गत प्रकरण दर्ज किया गया था। पीड़िता को न्याय दिलाने के प्रयासों में जुटी सामाजिक संस्था जन- जागरण मंच के अध्यक्ष हरिशंकर कुमार ने इस मामले में सीएम विंडो पर गत माह शिकायत दर्ज की थी। हरिशंकर कुमार ने बताया कि सीएम विंडो पर की गई शिकायत के बाद पुलिस कार्यवाही में जुट गई है।  इस मामले में आरोपी अजीत अंजुम, सुहेल, सुनील दत्त, मोहम्मद सोहेल उर्फ शाहिद, चित्रा त्रिपाठी, राशिद, ललित सिंह आदि के खिलाफ गत 4 जनवरी को अभियोग का प्रथम चार्जशीट स्थानीय कोर्ट में दिया जा चूका है। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.