सीएम की अलर्ट की हिदायत, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्पष्ट निर्देश- कोई शोभायात्रा या धार्मिक जुलूस बिना विधिवत अनुमति के न निकाला जाए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश के विभिन्न हिस्सों में सामने आ चुकीं सामुदायिक टकराव की घटनाओं को देखते हुए मेरठ के पुलिस-प्रशासन को अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने तीन मई को अक्षय तृतीया और ईद पर्व एक ही दिन होने के कारण कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जरूरी कदम उठाने के लिए कहा है। साथ ही अजान और हनुमान चालीसा माइक पर पढ़ने को लेकर शुरू हुए नए विवाद में उन्होंने दो टूक कहा है कि धार्मिक आजादी सबको है, लेकिन माइक की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए,मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सोमवार को प्रदेशभर के पुलिस-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की। उन्होंने अधिकारियों को आगाह किया कि आने वाले दिनों में कई महत्वपूर्ण पर्व-त्योहार हैं। रमजान का महीना चल रहा है। ईद का त्योहार और अक्षय तृतीया एक ही दिन होना संभावित है। वर्तमान परिवेश को देखते हुए पुलिस को अतिरिक्त संवेदनशील रहना होगा सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इन दिनों कई स्थानों पर अजान और हनुमान चालीसा के लिए माइक लगाए जाने के विवाद सामने आ रहे हैं। इसे गंभीरता से लेते हुए उन्होंने ने स्पष्ट कर दिया कि धार्मिक विचारधारा के अनुसार सभी को अपनी उपासना पद्धति को मानने की स्वतंत्रता है। माइक का प्रयोग किया जा सकता है, लेकिन यह सुनिश्चित हो कि माइक की आवाज उस परिसर से बाहर न आए। अन्य लोगों को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। वहीं, नए स्थलों पर माइक लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.