विकासशील क्षेत्रों के बिना बिके फ्लैटों की पेशकश ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर की जा सकती है और फ्लैटों के स्वामित्व की कोई शर्त आवेदकों पर लागू नहीं होगी। दूसरे शब्दों में, बिना बिके फ्लैट एक आवेदक द्वारा खरीदे जा सकते हैं, भले ही उसके पास दिल्ली में फ्लैट या प्लाट हो। सार्वजनिक संस्थाएं (केंद्र/राज्य सरकार के विभाग/संगठन) भी ऐसे बिना बिके फ्लैटों के आवंटन के लिए पात्र होंगे। प्रस्तावित संशोधनों को अनुमोदन एवं अधिसूचना के लिए अब केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। @Back To Home