दोस्ती में दगा-स्टूडेंट का मर्डर

दोदोस्ती में दगा-स्टूडेंट का मर्डर, दोस्ती इम्तेहान लेती है, दोस्तों की जान लेती है, कुछ ऐसा ही सहारपुर के एक छात्र के साथ हुआ, जिसकी हत्या उसके दोस्तों ने ही कर डाली। हत्या की वारदात के बाद आरोपी बताए जा रहे दोस्त फरार हैं। देहात कोतवाली क्षेत्र के गांव दाबकी गुर्जर के रहने वाले एक 11वीं के छात्र की हरिद्वार में हत्या कर दी गई। छात्र चार दिन पहले अपने घर से स्कूल के लिए निकला था। इसके बाद वह लापता हो गया। दो दिन पहले छात्र की लाश हरिद्वार के ज्वालापुर थानाक्षेत्र के जंगल में रेलवे ट्रैक के पास मिली है। पोस्टमार्टम भी हरिद्वार पुलिस ने ही कराया है। सहारनपुर की देहात कोतवाली में छात्र के पिता ने अपने बेटे के दो दोस्तों पर शक जताते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस दोस्तों की तलाश में जुटी है। दोनों अपने घर से फरार हैं।दाबकी गुर्जर गांव निवासी सुशील कुमार सैनी ने बताया कि उसका 18 साल का बेटा हर्ष उर्फ निखिल सरसावा के केंद्रीय विद्यालय में 11वीं क्लास में पढ़ता था। 26 मार्च को हर्ष अपने घर से यह कहकर निकला था कि उसे स्कूल में जाना है और एक फार्म भरना है। जब हर्ष देर रात तक भी अपने घर वापस नहीं लौटा तो पिता ने ग्रामीणों के साथ मिलकर उसकी तलाश की। बाद में पिता को पता चला कि विशांत और योगांश नाम के उसके दो दोस्त है और वह उनके साथ ही निकला है। इसके बाद पिता ने दोनों दोस्तों के नंबर जुटाए और उन्हें फोन किया। दोस्तों ने बताया कि वह हरिद्वार गया हुआ है। दोस्तों ने पिता के मोबाइल पर 27 मार्च को बात भी कराई। इसके बाद हर्ष ने कोई बात नहीं की और बात करते करते किसी ने उसका फोन उससे छीनकर बंद कर दिया। जिसके बाद पिता देहात कोतवाली में पहुंचा और गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस ने हर्ष की लोकेशन निकलवाई तो उसकी लोकेशन हरिद्वार के ज्वालापुर थानाक्षेत्र की निकली। पुलिस ने पिता और अन्य ग्रामीणों को हरिद्वार भेज दिया। वहां जाने के बाद हर्ष की लाश उन्हें मिली। जिसके बाद ज्वालापुर थाना पुलिस ने उसका पोस्टमार्टम कराया। अब पुलिस दोनों दोस्तों की तलाश में जुटी है। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही हत्या के कारण का पता चलेगा। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.