दस बच्चे कोरोना की चपेट में, दिल्ली से सटे गाजियाबाद में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। शुक्रवार को गाजियाबाद में कोरोना के 36 नए केस मिले हैं। तीसरी लहर के बाद एक दिन में यह सर्वाधिक केस हैं। इससे पहले 15 फरवरी 2022 को गाजियाबाद में 32 केस मिले थे। इसके ठीक दो महीने बाद यानि अब 15 अप्रैल को इतनी बड़ी संख्या में नए मामले सामने आए हैं। अब यहां एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 77 हो गई है। आज आई रिपोर्ट के बाद गाजियाबाद के 9 स्कूलों तक कोरोना फैल चुका है। चिंता की बात ये है कि इन 36 संक्रमित मरीजों में से 10 बच्चे हैं। इसमें पांच बच्चों की उम्र 12 साल से कम है। पांच बच्चों की उम्र 13 से 20 साल है। इसके अलावा 21 से 40 उम्र वाले 8, 41 से 60 उम्र वाले 15 और 60 साल से ज्यादा उम्र वाले तीन मरीज कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, सिर्फ अप्रैल के 15 दिनों में ही कोरोना के 109 नए केस आए हैं। जो संक्रमण दर मार्च में 0.14 प्रतिशत थी, वो इस वक्त बढ़कर 0.88 प्रतिशत हो गई। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉक्टर आरके गुप्ता ने बताया कि हमारा पूरा फोकस संक्रमित होने वाले मरीजों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर है। ट्रेसिंग बढ़ा दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, गाजियाबाद के 9 स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे संक्रमित पाए गए हैं। इसमें सेंट फ्रांसिस स्कूल, KR मंगलम स्कूल, DPS इंदिरापुरम, गुरुकुल द स्कूल डासना रोड गाजियाबाद, KD पब्लिक स्कूल, DPS वसुंधरा, प्रेसीडियम स्कूल इंदिरापुरम, क्रिस्ट यूनिवर्सिटी मरियम नगर गाजियाबाद और SRM आईटी मोदीनगर में पॉजिटिव केस आए हैं। इसके अलावा एस्टर पब्लिक स्कूल नोएडा एक्सटेंशन, KV नई दिल्ली, रयान इंटरनेशनल स्कूल नोएडा में पढ़ने वाले गाजियाबाद के बच्चे संक्रमित पाए गए हैं। गाजियाबाद में अब तक 25 छात्र संक्रमित पाए जा चुके हैं। वहीं, गौतमबुद्धनगर जिले में संक्रमित छात्रों की संख्या 23 के आसपास है। हालांकि, स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि संक्रमित छात्रों की संख्या इससे भी कई गुना ज्यादा है, लेकिन स्कूलों की तरफ से सूचित नहीं किया जा रहा। स्कूलों में फिलहाल छुट्टियां चल रही हैं। ऐसे में यहां सैनिटाइजेशन का काम चल रहा है। सोमवार या मंगलवार से ज्यादातर स्कूल खुल जाएंगे। कोरोना केस सामने आने के बाद स्कूलों ने फिर से पुरानी गाइडलाइन को फॉलो करना शुरू कर दिया है। कुछ स्कूलों ने प्रेयर पर रोक लगा दी है। बिना मास्क नो एंट्री का नियम फिर से लागू कर दिया है। उधर, स्वास्थ्य विभाग का टारगेट अब सभी स्कूली बच्चों को वैक्सीनेटेड करना है, इसके लिए सीएमओ ने टीमों का कार्यक्रम तय कर दिया है।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.