EVM पर बढ़ता जा रहा है बवाल

EVM पर बढ़ता जा रहा है बवाल, बनारस में मिली ईवीएम पर बवाल बढ़ता जा रहा है। अखिलेश के आरोप पर राज्य सरकार ने एक बयान जारी किया है। बयान में साफ कर दिया गया है कि जो भी ईवीएम वहां मिली हैं उनका चुनाव से कोई सरोकार नहीं है. यूपी चुनाव संपन्न हो चुके हैं और 10 मार्च को नतीजे आने वाले हैं. लेकिन नतीजों से पहले आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है. ऐसा ही एक आरोप सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने जो EVM मिल रही हैं उनको लेकर योगी सरकार के अफसरों पर गंभीर आरोप ही नहीं लगाए हैं बल्कि उन्होंने गठबंधन के तमाम कार्यकर्ताओं को मतगणना से एक रात पहले तथा मतगणना खत्म होने तक मुस्तैद रहने को कहा है। किन अब राज्य सरकार ने अखिलेश के आरोपों पर जवाब दिया है. उनकी तरफ से साफ कर दिया गया है कि इन सभी ईवीएम का चुनाव के नतीजों से कोई लेना-देना नहीं है. अब अखिलेश यादव की बात करें तो उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आज डीएम से लेकर बीजेपी तक, कई लोगों पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि 47 सीटें ऐसी हैं  जहां गड़बड़ी की साजिश की जा रही है. मेरठ में सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय में तीन विधानसभा चुनावों की मतगणना 10 मार्च को होनी है। EVM पर बढ़ता जा रहा है बवाल, मतदान के बाद से ही सभी प्रत्याशी ईवीएम की निगरानी कर रहे हैं. हस्तिनापुर विधानसभा से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी व पूर्व विधायक योगेश वर्मा और उनके समर्थकों द्वारा दूरबीन से EVM मशीनों की निगरानी की जा रही है. पूर्व विधायक योगेश वर्मा खुली जीप से रविवार को कृषि विश्वविद्यालय में पहुंचे और दूरबीन से ईवीएम मशीनों की निगरानी की गई. योगेश वर्मा ने कहा कि हस्तिनापुर विधानसभा क्षेत्र से जो चुनाव जीतता है, उत्तर प्रदेश में उसकी सरकार बनती है. इसलिए हमारा दायित्व है कि हम EVM मशीनों की निगरानी करें. उन्होंने कहा कि भाजपा वाले कुछ भी कर सकते हैं, इसलिए हम EVM मशीनों पर पैनी नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने बताया कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि सभी कार्यकर्ता ईवीएम मशीनों की देखभाल करें। इसी के मद्देनजर आदेश का पालन करते हुए EVM मशीनों की दूरबीन से भी मशीनों की निगरानी की जा रही है। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.