आईआईएमटी के छात्रों की पूर्व मंत्री से वार्ता, मेरठ। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और वर्तमान सांसद राधा मोहन सिंह ने आज आईआईएमटी विश्वविद्यालय पहुंच कर छात्रों से वार्ता की। सांसद राधा मोहन सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि विद्यार्थियों को ज्ञान, चरित्र और एकता को अपने जीवन का मूलमंत्र बनाना होगा। उन्होंने आपस में जाति-धर्म और रंगभेद में न लड़कर एकजुटता का संदेश देते हुए हिन्दुस्तान को फिर से विश्व गुरू बनाने पर जोर दिया। सांसद जी द्वारा आईआईएमटी विश्वविद्यालय में इंक्यूबेशन सेंटर फाउंडेशन व ड्रोन ट्रेनिंग स्कूल का उद्घाटन किया गया।
उन्होंने कहा कि एक बात सबके दिमाग में स्पष्ट रूप से होनी चाहिए कि विद्यार्थी चाहे बंगाल का हो, बिहार का हो या फिर किसी अन्य क्षेत्र का वह पहले देश का नागरिक है। भारत सबकी माता है और हम सब उसके पुत्र हैं। पूजा पद्धति बदलने से मॉं नहीं बदल जाती। हम सभी सहोदर हैं सगे हैं। सहोदर और सगे का निर्माण छात्र-जीवन में ही होता है। हम सबको समाज के प्रति आभार व प्रकृति के लिए प्रेम का जज्बा रखना होगा। सांसद राधा मोहन सिंह ने देश के वर्तमान हालात पर पूर्व की सरकारों पर तंज कसते हुए कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर देश जहां होना चाहिए था वहां नहीं पहुंचा। उन्होंने कहा कि अब तक लोग परिवार, संस्था और संगठन आदि से अपने अधिकारों के लिए ही लड़ते रहे जो बड़ी रूकावट बनी रही। यदि व्यक्ति अपने कर्तव्य पालन के लिए लड़े तो देश आजादी के 100 वर्ष पूर्ण होने पर अवश्य ही परम वैभव प्राप्त कर लेगा और विश्व गुरू बन जाएगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ भाजपा नेता सुरेश जैन रितुराज ने की। आईआईएमटी विश्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति डॉ. मयंक अग्रवाल ने बिहार के विद्यार्थियों की सराहना करते हुए कहा कि वहां की मिट्टी में कुछ तो ऐसा है जो उन्हें सबसे अलग बनाता है। देश की सबसे बड़ी परीक्षा को पास कर प्रशासनिक सेवा में सबसे अधिक लोग बिहार से ही हैं। उन्होंने पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद राधा मोहन सिंह के आईआईएमटी में आगमन को विद्यार्थियों के लिए सीख लेकर प्रेरित करने करने वाला बताया। इस दौरान मंच पर भाजपा नेता अनिल जैन भी मौजूद रहे। कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन एकता शर्मा ने किया।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.