इंतज़ार हुआ खत्म टी 20 वर्ल्ड कप 16 अक्टूबर से

इंतज़ार हुआ खत्म टी 20 वर्ल्ड कप 16 अक्टूबर से, एशिया कप के खत्म होने के बाद अब सभी क्रिकेट टीमें टी20 विश्व कप के लिए मैदान में उतरेंगी जिसका आयोजन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी इस बार ऑस्ट्रेलिया में करवा रहा है। इस विश्व कप के मैच ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न, जीलोंग, सिडनी, ब्रिस्बेन, पर्थ और एडिलेड के स्टेडियम में खेले जाएंगे। जुलाई 2020 में, जब कोविड– 19 के कारण टूर्नामेंट के पिछले संस्करण की समीक्षा की जा रही थी, तब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अध्यक्ष अर्ल एडिंग्स द्वारा सुझावित ऑस्ट्रेलिया को अक्टूबर 2021 में टूर्नामेंट की मेजबानी करनी थी और भारत एक साल बाद 2022 में इस टूर्नामेंट की मेजबानी करता। आईसीसी ने यह भी पुष्टि की कि ऑस्ट्रेलिया या भारत, जो असल में 2020 और 2021 में होने वाले टूर्नामेंट के लिए मेजबान थे, इस टूर्नामेंट की मेजबानी करेंगे। सभी टीमों के मैच अलग अलग तिथियों में बांटें दिए गए हैं जिसकी शुरुआत 16 अक्टूबर 2022 को होने वाले श्रीलंका और नामीबिया के राउंड वन के मैच से होगी और इसका फाइनल 13 नवंबर 2022 को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाएगा। इस बार टी 20 विश्व कप में आईसीसी की रैंकिंग के हिसाब से कुल 16 टीमें अफगानिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, नामीबिया, स्कॉटलैंड, श्रीलंका, वेस्टइंडीज, आयरलैंड, यूएई, नीदरलैंड्स और जिम्बाब्वे, आईसीसी विश्व टी20 2022 का टूर्नामेंट खेलेंगी। इन 16 में से दस आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष 10 टीमें हैं। बाकी छह टीमों का चयन टी20 वर्ल्ड कप क्वालीफायर के जरिए किया जायेगा जिनमें 6 में से चार टीमें राउंड 1 में बाहर हो जाएंगी। 15 सदस्यीय टीम में रवींद्र जडेजा नहीं है। वह चोट की वजह टीम का हिस्सा नहीं है उनकी जगह अक्षर पटेल को टीम में जगह मिली है। टीम इंडिया के लिए भारतीय टीम में चार बल्लेबाज, दो विकेटकीपर, चार ऑलराउंडर, एक स्पिनर और चार तेज गेंदबाजों को शामिल किया गया है। वहीं, दो तेज गेंदबाज, एक स्पिनर और एक बल्लेबाज स्टैंडबाय के तौर पर रहेगा। भारतीय टीम को लगातार एशिया कप में झटके लगे जिसमें काफी खिलाड़ियों की चोट और टीम संयोजन शामिल रहा जिसके कारण भारत एशिया कप के फाइनल में नही पहुंच पाया। टीम में इस बार रोहित शर्मा और केएल राहुल ओपनिंग के लिए जायेंगे और बाकी खिलाड़ियों की भी फ़ॉर्म इस मैच में दिखाई देगी जैसे, सूर्यकुमार यादव ने अपने बल्ले से इस साल टी20 प्रारूप में 17 पारी खेलते हुए सबसे ज्यादा 567 रन बनाए जिससे टीम के मध्यक्रम को मजबूती मिली है। पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली के अच्छी प्रदर्शन ने भी टीम में आत्मविश्वास भरा है। तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का भी इस बार चयन हुआ लेकिन उनके कोविड 19 संक्रमित होने पर उनकी जगह किसी और के चयन की उम्मीद है। इस विश्व कप का आखिरी साल ऑस्ट्रेलिया ने खिताब जीता था और इस बार दर्शकों की नज़रें सभी मैचों पर बनी होंगी और सभी मुकाबले बेहद कड़े होंगे।

@Back To Home

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *