ईरान छीन लेगा इजरायल का चैन, ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने सोमवार को चेतावनी दी कि अगर उसे निशाना बनाकर एक्शन लिया जाता है तो उसके सशस्त्र बल कट्टर दुश्मन इजरायल को चैन से सोने नहीं देंगे। रायसी ने चेतावनी दी कि अगर इजरायल उनके देश के खिलाफ ‘‘कोई छोटा सा कदम’’ भी उठाता है, तो ईरानी सशस्त्र बल उसे निशाना बनाएंगे। राष्ट्रीय सेना दिवस पर एक सैन्य परेड के दौरान रायसी ने कहा, “आपको पता होना चाहिए कि अगर आप ईरानी राष्ट्र के खिलाफ कोई कार्रवाई करने की कोशिश करते हैं तो हमारे सशस्त्र बल आपको चैन से नहीं जीने देंगे।”  उन्होंने यह बात तब कही जब ईरान की परमाणु क्षमताओं पर लगाम लगाने के लिए एक समझौते पर बातचीत रुकी हुई है। ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम का शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए उपयोग करने का दावा करता है। इज़रायल, यह कहते हुए समझौते का विरोध करता है कि यह ईरान के परमाणु कार्यक्रम या पूरे क्षेत्र में उसकी सैन्य गतिविधियों को रोकने के लिए पर्याप्त नहीं है। इजरायल के अधिकारियों ने कहा है कि वे अपने देश की रक्षा के लिए एकतरफा कदम उठाएंगे। रायसी ने ईरान के सशस्त्र बलों की वार्षिक परेड में एक भाषण के दौरान सीधे इज़रायल को संबोधित किया। तेल अवीव का जिक्र करते हुए रायसी ने कहा, ‘‘यदि आप ईरान के खिलाफ कोई छोटे से छोटा कदम भी उठाते हैं, तो हमारे सशस्त्र बलों का निशाना ज़ायनी (यहूदीवादी) शासन का केंद्र होगा।’’ रायसी ने विस्तार से नहीं बताया, लेकिन कहा कि ईरान इजरायल के हर कदम पर ‘‘बारीकी से’’ नजर रखता है। ईरान ने 1979 की इस्लामी क्रांति के बाद से इजरायल को मान्यता नहीं दी है। इस क्रांति ने पश्चिम समर्थक राजशाही को हटा दिया और इस्लामवादियों को सत्ता में पहुंचाया। यह हमास और हिजबुल्लाह जैसे इजरायल विरोधी आतंकवादी समूहों का समर्थन करता है। रायसी ने कहा कि ईरान की सैन्य शक्ति एक प्रतिरोधक है। उन्होंने कहा कि तेहरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर देश पर वर्षों से लगाए गए प्रतिबंधों के बावजूद सेना अपनी क्षमताओं में सुधार करने में सफल रही है। सोमवार की परेड में जेट लड़ाकू विमानों, हेलीकॉप्टर, ड्रोन और वायु रक्षा प्रणालियों के साथ-साथ सैन्य टैंक, मिसाइल और नौसेना के जहाजों का प्रदर्शन किया गया।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.