इस मासूम का क्या कसूर

इस मासूम का क्या कसूर, रूस बनाम यूक्रेन जंग की कीमत बेगुनाह नागरिक चुका रहे हैं। मासूम बच्चों, बुजुर्गों, महिलाओं पर यह युद्ध कहर बनकर टूट रहा है। ऐसे मासूमों की बड़ी संख्या है जिनका पूरा परिवार ही इस जंग में खत्म हो गया है। रेस्क्यू के दौरान ऐसे बेहसरा बच्चें मिल रहे हैं। केवल मानवीय त्रासदी नहीं है बल्कि बेजुबानों को भी रूसी दादागिरी की कीमत चुकानी पड़ रही है।

बढ़ने लगी हैं रूस की मुसीबत, रूस-यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग का आज 14वां दिन है। 14 दिन बाद भी रूस के कब्जे से कीव काफी दूर है। इस बीच रूस पर प्रतिबंध बढ़ते ही जा रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने साफ कर दिया है कि अमेरिका रूस से कच्चे तेल व गैस को आयात नहीं करेगा। इस बीच पेप्सिको ने भी रूस में उत्पादन और ब्रिक्री को बंद कर दिया है।

ब्रिटेन में रूसी विमानों का उड़ान भरना अपराध

ब्रिटिश सरकार ने बुधवार को नए कानून की घोषणा की है। इसके तहत किसी भी रूसी विमान के लिए यूके में उड़ान भरना या उतरना अपराध होगा। यह कानून रूस के खिलाफ ब्रिटेन के नए एविएशन प्रतिबंधों का हिस्सा है। इस मासूम का क्या कसूर, यह कार्रवाई रूस के यूक्रेन पर हमले के विरोध में की जा रही है।

परमाणु संयंत्र में रिपेयरिंग के लिए युद्ध विराम की मांग

यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने रूस से युद्ध विराम की अपील की है ताकि चेर्नोबिल परमाणु पालर प्लांट को विद्युत आपूर्ति फिर से शुरू की जा सके। यूक्रेन का सरकारी पावर ऑपरेटर कह चुका है कि रूसी बलों ने पावर प्लांट को ग्रिड से अलग कर दिया है। देश की सरकारी परमाणु कंपनी एनर्गोएटम ने चेतावनी दी है कि हवा से रेडियोएक्टिव बादल यूक्रेन, बेलारूस, रूस और यूरोप के अन्य क्षेत्रों में पहुंच सकते हैं। अगर हालात ऐसे ही रहे तो वहां प्लांट में मौजूद सभी कर्मचारियों को खतरनाक रेडिएशन का सामना करना पड़ेगा।

संयंत्र की इलेक्ट्रिकल ग्रिड हुई क्षतिग्रस्त: यूक्रेन

यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा है कि चेर्नोबिल परमाणु पावर प्लांट और इसके सभी परमाणु केंद्रों को आपूर्ति करने वाली एकमात्र इलेक्ट्रिकल ग्रिड क्षतिग्रस्त हो गई है। इस परमाणु संयंत्र पर अब रूस का कब्जा है। कुलेबा ने कहा कि मैं अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील करता हूं कि वह रूस से तुरंत युद्ध विराम करने की मांग करे और बिजली आपूर्ति फिर से व्यवस्थित करने के लिए इकाइयों की रिपेयरिंग करने की अनुमति दे।

 मानवीय कॉरिडोर से निकले नागरिक

यूक्रेन के एनेर्होदर शहर से नागरिकों का एक समूह रूस की ओर से अस्थायी युद्ध विराम पर पर सहमति जताए जाने के बाद एक मानवीय कॉरिडोर के रास्ते निकला है। इनमें अधिकर महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग शामिल हैं। शहर के मेयर ने यह जानकारी दी है।

@Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.