जयंत का गुड पापड़ जीएसटी विरोध, जयंत की स्थानीय चुनाव पर नजर, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में शानदार वापसी करने वाले राष्ट्रीय लोकदल यानि आरएलडी मुखिया जयंती चौधरी जहां एक ओर संगठन के पेंच कसने में जुटे हैं, वहीं दूसरी ओर उन्होंने राष्ट्रीय कार्यकारिणी के नेताओं से कहा है कि जीत का जश्न तो ठीक है, लेकिन आगे की रणनीति पर ध्यान भी जरूरी है। उन्होंने युवाओं से सीधा संवाद स्थापित किए जाने पर जोर दिया। नई दिल्ली के कंस्टिटयूशन हाल में रालोद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को जयंत चौधरी संबोधित कर रहे थे। उन्होंने साथ ही साथ ही यूपी के स्थानीय निकाय चुनाव की तैयारियों की भी थाह ली। माना जा रहा है कि यदि सब कुछ ठीक ठाक रहा तो विधानसभा चुनाव की तर्ज पर गठबंधन की ओर से वेस्ट यूपी के निकायों पर कब्जे के लिए रालोद उतरेगा। उन्होंने विधानसभा चुनाव परिणाम के लिए रालोद व सपा के कार्यकर्ताओं की जमकर तारीफ भी की। साथ ही भाजपा पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने भाजपा पर सांप्रदायिक सदभाव काे नष्ट करने का आरोप लगाया और कहा कि देश की गंगा जमुनी तहजीब को खत्म करने के भाजपा के मनसूबों से केवल रालोद के कार्यकर्ता ही निपट सकते हैं। रालोद के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुरेन्द्र शर्मा ने बताया कि उनका संगठन 1 मई से संगठन के विस्तार का काम युद्ध स्तर पर शुरू करने जा रहा है। साथ ही फंड रेसिंग अभियान भी शुरू किया जाएगा। 6 मई से राष्ट्रीय कार्यकारिणी विधानसभा वार जनता से सीधा संवाद स्थापित करेगी।  सुरेन्द्र शर्मा ने बताया कि केंद्र की किसान विराेधी नीति का जमकर विरोध किया जाएगा। मोदी सरकार ने गुड व पापड पर जीएसटी लगाकर किसान विरोधी नीति का परिचय दिया है। इसका सडक से लेकर संसद तक विरोध किया जाएगा। इसके अलावा सारथी प्रोजेक्ट को तेजी से आगे बढाया जाएगा। इसके तहत शिक्षित युवाओं को छह माह का प्रशिक्षण देकर उन्हें संगठन से जोड़ने का काम किया जाएगा। ताकि राष्ट्र निर्माण में युवाओं की संक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जा सके। राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मेरठ से राष्ट्रीय महासचिव राजेंद्र शर्मा] मेहराजुद्दीन] राष्ट्रीय सचिव कुलदीप उज्जवल] राष्ट्रीय मीडिया कोऑर्डिनेटर सुरेंद्र शर्मा भी उपस्थित थे।

@Back Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.