कायम है शिवपाल पर सस्पेंस, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के सगे चाचा शिवपाल को लेकर अभी सस्पेंस खत्म होता नजर नहीं आ रहा है। वहीं दूसरी ओर कहा जा रहा है कि भाजपा की नजर सपा के यादव वोट बैंक पर है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं के प्रति उमड़ा ट्विटर प्रेम और उनका रामभक्त हो जाना बदलाव का बड़ा संकेत दे रहा है। वैसे भी शिवपाल सिंह यादव यह कह चुके हैं कि वह नवरात्रि के बाद कोई बड़ा फैसला लेंगे। अब सभी की निगाह उनके फैसले पर ही टिकी है। वहीं यदि अब भाजपा की बात की जाए तो वह  अब मिशन 2024 पर लग गई है। भाजपा के इस मिशन में समाजवादी पार्टी के विधायक शिवपाल सिंह यादव भी बड़े मददगार साबित हो सकते हैं। शिवपाल सिंह यादव का ट्विटर पर भाजपा के बड़े नेताओं को फालो करने के साथ ही अयोध्या जाकर रामलला तथा हनुमान गढ़ी का दर्शन करने की योजना भी उनको रामभक्त साबित कर रही है। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के सबसे सबसे बड़े राजनीतिक यादव परिवार के मजबूत सदस्य शिवपाल सिंह यादव पर भगवा रंग चढऩे लगा है। सोमवार को सुबह राम दरबार की एक फोटो शेयर कर चौपाई के जरिए अपनी बात कहने वाले शिवपाल सिंह यादव अब अयोध्या जाने की तैयारी में हैं। उनके इस ट्विट के कई मतलब निकाले जा रहे हैं। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव के आने वाले दिनों में अयोध्या जाने के साथ भाजपा में शामिल होने की अटकलें भी तेज हैं। शिवपाल सिंह यादव ने बीते दिन कहा था कि अयोध्या में हनुमानगढ़ी तो जाना ही है। रामजन्मभूमि भी जाना है और दर्शन भी करना है। आगे के कदम पर उन्होंने कहा था कि नवरात्रि के बाद कुछ बड़ा फैसला लेंगे। प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव तो अखिलेश यादव से नाराज बताए जा रहे हैं। इसी बीच उनके भाजपा में शामिल होने को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने बड़ा बयान दे दिया है। कहा कि जितने भी आज तक राम की भक्ति से दूर रहते थे, सब आज राम भक्ति कर रहे हैं, उन सबका स्वागत है।

@Home

 

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *