लाइब्रेरी के लिए सीडीओ को दी किताबें,  ग्लोबल सोशल कनेक्ट संस्था ने सी डी ओ मेरठ  शशांक चौधरी आई ए एस जी को ग्रामीण क्षेत्रो में बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से खोली गई लाइब्रेरी के लिए 400 से अधिक पुस्तके दी।
अध्यक्षा  ऋचा सिंह ने कहा कि संस्था का उद्देश्य गरीब बच्चों में शिक्षा के विकास के लिए हर संभव कोशिश करना है।इस मौके पर ग्लोबल सोशल कनेक्ट की अध्यक्षा ऋचा सिंह, विपुल सिंघल, नवीन अग्रवाल व अन्य सदस्य मौजूद रहे। ग्लोबल सोशल कनेक्ट के इस प्रयास की प्रशंसा करते हुए सीडीओ ने इस सहयोग के लिए आभार जताया। ऋचा सिंह का कहना था कि सबसे ज्यादा बुरी बात अशिक्षा की है। वह यह नहीं कह रही कि शिक्षा के क्षेत्र में कुछ हुआ नहीं है। इसमें कोई दो राय नहीं कि देश भर में शिक्षा के क्षेत्र में बहुत काम हुआ है। पांच स्टार संस्कृति सरीखे इंस्टीटयूट खुले हैं, जहां लाखों बच्चे तालीम हासिल कर रहे हैं। लेकिन इन फाइव स्टार संस्कृति के इतर भी एक दुनिया है, जहां असली भारत बसता है। सोसाइटी के इस हिस्से में रहने  वाले आज भी शिक्षा ही नहीं अच्छी पुस्तकों से महरूम हैं। देश में पुस्तकालयों की भारी कमी हैं। ऐसे पुस्तकालय जहां गरीब का बच्चा भी पुस्तक लेकर अपना ज्ञान वर्धन कर सके। शिक्षा पर किसी एक वर्ग का कब्जा नहीं होना चाहिए। स्वास्थ्य व शिक्षा ऐसी जरूरी चीजे हैं जिन पर देश के सभी वर्ग का समान अधिकार होना चाहिए, लेकिन सच्चाई तो यह है कि ऐसा हो नहीं रहा है।ग्लोबल सोशल कनेक्ट कुछ ऐसे ही सरोकारों से जुड़कर अपना छोटा सा योगदान देने का प्रयास करता है। उन्होंने कहा कि जानकारी यानि तालीम केवल पुस्तकों से आ सकती है। अमीरी या गरीबी की खाई बीच में लाकर किसी को ज्ञान से महरूम नहीं रखा जा सकता है। भारत तो वैसे भी ज्ञानी व मनीषियों को देश है। यहां ज्ञान प्रथम है और ज्ञान पुस्तकों से ही संभव है। इसीलिए उनकी संस्था ने ज्ञान देने में सहायक बनने वाली पुस्तकों को लाइब्रेरी में देकर अपनी ओर से समाज के लिए छोटा सा योगदान दिया है।

@Back Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *