मंत्री का इस्तीफा नहीं गिरफ्तारी चाहता विपक्ष, कर्नाटक में ठेकेदार की आत्महत्या मामले में विपक्ष आरोपों से घिरे मंत्री के इस्तीफा से आगे उनकी गिरफ्तारी चाहता है.  Karnataka News: कर्नाटक में एक ठेकेदार संतोष पाटिल की आत्महत्या के मामले पर विपक्ष लगातार सरकार की आलोचना कर रहा है और इस मामले में राज्य के ग्रामीण विकास और पंचायत राज मंत्री केएस ईश्वरप्पा की संलिप्ततता का आरोप लगा रहा है, विपक्ष के साथ ही संतोष पाटिल के परिजन भी मंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप और रिश्वत लेने का आरोप लगा रहे हैं और गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. मामला गरमाने के बाद मंत्री ने कहा था कि किसी भी हाल में मंत्रीपद से इस्तीफा नहीं दूंगा, लेकिन ना-ना करते आखिरकार केएस ईश्वरप्पा को आज अपनी मंत्री कुर्सी छोड़नी ही पड़ रही है. ईश्वरप्पा आज मंत्रीपद से इस्तीफा देने जा रहे हैं. विपक्षी नेता कांग्रेस के डीके शिवकुमार ने ठेकेदार संतोष पाटिल की मौत के मामले में मंत्री ईश्वरप्पा के इस्तीफे पर तंज कसा है और कहा है कि इस्तीफा इस मामले का कोई समाधान नहीं है. उनपर भ्रष्टाचार का मामला दर्ज करना होगा, फिर उन्हें (कर्नाटक के मंत्री केएस ईश्वरप्पा) गिरफ्तार किया जाना है. ठेकेदार संतोष पाटिल की मां, पत्नी, भाई, सभी ने आरोप लगाया है कि संतोष पाटिल को प्रताड़ित किया गया और उनसे 40% कमीशन मांगा गया; उस पर एफआईआर कहां है… हमारा आंदोलन डीके शिवकुमार या कांग्रेस की ओर से नहीं है, यह कर्नाटक की आवाज है.  सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा-जज ना बने विपक्ष: कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने ठेकेदार संतोष पाटिल की मौत के मामले में कहा कि राज्य मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने अपने दम पर इस्तीफा देने का फैसला किया है और वो आज शाम को इस्तीफा देंगे. जांच अधिकारी या जज बनने के लिए विपक्ष की जरूरत नहीं है क्योंकि जांच के बाद ही सब कुछ सामने आएगा.

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.