माया मीडिया से खफा-खफा

माया मीडिया से खफा-खफा, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बसपा का सूपडा साफ होने के बाद संगठन की सुप्रीमो मायावती मीडिया से भी खासी खफा हैं। उन्होंने मीडिया का अघोषित बायकाट कर दिया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बसपा को करारी हार मिली। सिर्फ एक ही सीट बसपा जीत पाई है। इसके बाद हार का गुस्सा मायावती ने मीडिया पर उतारा है। माया मीडिया से खफा-खफा, मायावती ने ट्वीट करके लिखा कि BSP प्रवक्ता TV डिबेट में नहीं जाएंगे। मायावती ने लिखा, ‘यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान मीडिया द्वारा अपने आकाओं के दिशा-निर्देशन में जो जातिवादी द्वेषपूर्ण और घृणित रवैया अपनाकर अम्बेडकरवादी BSP मूवमेन्ट को नुकसान पहुंचाने का काम किया है, वह किसी से भी छिपा नहीं है। इस हालत में पार्टी प्रवक्ताओं को भी नई जिम्मेदारी दी जाएगी’।

मायावती ने कहा कि यदि मुस्लिम वोट भी दलित वोटों के साथ मिल जाता, तो पश्चिम बंगाल जैसा चमत्कार हो सकता था। वैसे ही परिणाम यहां भी दोहराएं जाते। लोग यह भूल जाते हैं कि बीएसपी ही भाजपा को रोक सकती है सपा नहीं। अगर त्रिकोणीय संघर्ष हुआ होता, तो भाजपा को आने से रोका जा सकता था। उन्होंने आगे कहा कि इस अनुभव को देखते हुए बसपा अब अपनी रणनीति में बदलाव लाएगी।

दलितों ने साथ दिया, इसके लिए आभार
मायावती ने कहा कि हर बार की तरह ही दलित वोट बैंक बसपा के साथ पूरी तरह बना रहा। इसकी मैं जितनी भी तारीफ करूं, वह कम है। हमें बाबा साहब के कारवां को न रुकने देना है, न झुकने देना है। बुरा वक्त खत्म होने वाला है। क्योंकि यूपी में जो नतीजा आया है, उससे बुरा और क्या हो सकता है।

इन्होंने बचायी लाज

यूपी विधानसभा चुनाव में BSP को सिर्फ एक सीट मिली है। ये सीट बलिया जिले के रसड़ा विधानसभा क्षेत्र की है। इस सीट पर BSP को जीत दिलाने वाले नेता हैं उमाशंकर सिंह। उन्होंने SBSP के प्रत्याशी महेंद्र को 6,583 मतों से हराया है। इन्होंने लगातार तीसरी बार इस सीट पर जीत हासिल की है। कहा जाता है कि इनकी हर सरकार में पैठ है। उमाशंकर सिंह वैसे तो पेशे से कॉन्ट्रैक्टर हैं, लेकिन इनके क्षेत्र रसड़ा में इन्हे रॉबिनहुड के नाम से भी जाना जाता है। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.