पहले पुत्र अब पिता की हत्या

पहले पुत्र अब पिता की हत्या, रंजिश के चलते पहले करीब दो साल पहले पुत्र और अब पिता की हत्या कर दी गयी है।  हत्या कर शव नदी में फैंक दिया। एक किसान की हत्या कर उसका शव ठिकाने लगाने व पुलिस से बचने के लिए हत्यारों ने काली नदी में फैंक दिया। हत्या का कारण रंजिश माना जा रहा है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। शिकारपुर कोतवाली क्षेत्र के गांव महमदपुर निवासी 55 वर्षीय विजयपाल सिंह पुत्र स्व. कमल सिंह की हत्या कर शव को गांव रामपुर स्थित काली नदी में फेंक दिया। मृतक के भतीजे मोनू ने बताया कि विजयपाल बीती 14 मार्च को खेत पर गए और वापस नहीं लौटे। स्वजन ने रिश्तेदारी एवं अन्य स्थानों पर खोजबीन की लेकिन पता नहीं लगा। स्थानीय पुलिस को भी सूचना दी गई। बुधवार की दोपहर नदी में एक लाश उतराती मिली। आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मृतक के परिजनों को मौके पर बुलाया और शिनाख्त कराई। मोनू ने बताया कि विजयपाल की हत्या साजिश के तहत की गई है। कोतवाली प्रभारी ऋषिपाल शर्मा ने बताया कि इस मामले में कोई तहरीर परिजनों की ओर से पुलिस को अभी तक नहीं मिली है। मृतक विजय पाल सिंह के इकलौते पुत्र हरेंद्र उर्फ सोनू की 13 नवंबर 2020 को फावड़े से काटकर हत्या कर दी गई थी। जिसमें चार लोगों को नामजद किया गया। सभी आरोपित जेल से जमानत पर छूट चुके हैं। इस मामले में मृतक का भतीजा मोनू गवाह है। मोनू का कहना है कि विजयपाल की हत्या साजिश के तहत की गई है। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.