प्रियंका बोलीं हम तीनों देते हैं इस्तीफा

प्रियंका बोलीं हम तीनों देते हैं इस्तीफा, तो गांधी परिवार मुक्त हो कांग्रेस, पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कभी सोनिया गांधी के विश्वास पात्र रहे नेताओं ने अब गांधी परिवार की प्रासंगिकता पर सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं। पुराने कांग्रेसी व पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व गैर गांधी परिवार का नेता करे। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि यदि सोनिया, राहुल व प्रियंका से दिक्कत है तो तीनों ही पद से इस्तीफा दे देते हैं। हालांकि कांग्रेस का बड़ा वर्ग कपिल सिब्बल से इत्तेफाक नहीं रखता। कुछ कांग्रेसियों ने तो कपिल सिब्बल को भाजपा का ऐजेंट तक करार दे दिया। वहीं दूसरी ओर अंबिका सोनी सरीखे कांग्रेसी जी-26 ग्रुप के कांग्रेसियों को पाले में लाने का प्रयास कर रहे हैं। माना जा रहा है कि गुलाम नवी आजाद जैसे कांग्रेसियों के जो संगठन को लेकर सवाल खड़े करते रहे हैं अब सुर कुछ  नरम पड़ने लगे हैं। इससे पहले  एक इंटरव्यू में पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा है कि गांधी परिवार को कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व से अलग होना चाहिए और किसी अन्य को मौका देना चाहिए। इस बयान के बाद वो कई कांग्रेस नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कपिल सिब्बल जी कांग्रेस संस्कृति के व्यक्ति नहीं हैं। वे बहुत बड़े वकील हैं। कांग्रेस में उनकी एंट्री हो गई। सोनिया गांधी के आशीर्वाद और राहुल गांधी के सहयोग से उनको केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिली। उनके मुंह से ऐसे अल्फाज निकलना दुर्भाग्यपूर्ण है। सबसे ज्यादा घमासान पंजाब में मिली हार को लेकर मचा है। यहां कुछ कांग्रेसियों ने अंबिका सोनी के खिलाफ माेर्चा खोल दिया है। पूर्व पंजाब प्रधान सुनील जाखड़ ने एक बार फिर पार्टी की वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी पर सीधा हमला बोला है। सोनी ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में कहा था कि पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पार्टी की संपत्ति थे, लेकिन स्थानीय नेताओं ने उनकी टांगें खींची। जाखड़ ने ट्वीट कर कहा, चन्नी आपके लिए संपत्ति हो सकते हैं, लेकिन पार्टी के लिए नहीं। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.