राघव हैं आप की पंजाब जीत के नायक

राघव है आप की पंजाब जीत के नायक, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड समेत 5 राज्यों की सभी विधानसभा सीटों पर परिणाम घोषित हो गए हैं। यूपी, उत्तराखंड में तो आम आदमी पार्टी कुछ खास नहीं कर सकी, लेकिन पंजाब में ऐतिहासिक जीत दर्ज की है।  117 सीटों वाली पंजाब विधानसभा में आम आदमी पार्टी ने 92 सीटें हासिल करके इतिहास रच डाला है। इस तरह 92 सीटें लेकर अब तक के पंजाब विधानसभा चुनाव के इतिहास में सर्वाजिक सीटों के साथ रिकार्ड जीत दर्ज करने वाली एकमात्र राजनीतिक पार्टी बन गई है। पंजाब में आप की प्रचंड जीत से सारे सियासी समीकरण ध्‍वस्‍त हो गए। आइये हम बताते हैं कि पंजाब में इस ऐतिहासिक जीत के नायक राघव चड्डा के बारे में। वर्ष, 2019 में दक्षिण दिल्ली लोकसभा सीट से भारी अंतर से चुनाव हारने वाले आम आदमी पार्टी के दिग्गज नेता के बारे में किसी ने सोचा तक नहीं था कि वह पंजाब में जीत के सूत्रधार बनेंगे। फिलहाल AAP के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्डा पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल जो भरोसा जताय वह उस पर 100 प्रतिशत खरा उतरे। राघव हैं आप की पंजाब जीत के नायक, इसके बाद नतीजा पूरी दुनिया देख रही है। अरविंद केजरीवाल को भरोसे में लेकर पंजाब के आम आदमी पार्टी के  स्थानीय नेताओं के साथ रणनीति बनाने वाले राघव चड्डा ने 117 में से 94 सीटें जिता दीं।

आम आदमी पार्टी में बढ़ा राघव चड्ढा का कद

पंजाब में ऐतिहिसाक जीत दिलाने वाले आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा का कद पार्टी में और बढ़ गया है। दिल्ली की राजेंद्र नगर सीट से विधायक के ऊपर कई महीने पहले ही पंजाब चुनाव को लेकर बड़ी जिम्मेदारी डाल दी गई थी। ऐसे में वह अक्सर पंजाब दौरे पर रहते थे। इस दौरान पंजाब में जीत की रणनीति बनाने के साथ टिकट बंटवारे में भी अप्रत्यक्ष रूप से बड़ी भूमिका अदा की।

भगवंत मान पर दांव लगाने का आइडिया राघव चड्ढा का था!

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वर्ष 2020 में ही आम आदमी पार्टी की ओर से पंजाब प्रदेश का सह-प्रभारी बनाया था। सह-प्रभारी बनने के बाद से राघव चड्ढा पूरी तरह से पंजाब को समय दे रहे थे। बताया जा रहा है कि पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए भगवंत मान को सीएम का चेहरा घोषित कराने में भी  राघव चड्ढा की अहम भूमिका रही है।

2012 से ही जुड़े हैं अरविंद केजरीवाल से

अन्ना आंदोलन से प्रभावित होकर राघव चड्ढा सक्रिय हुए। इस दौरान आंदोलन के वक्त से ही वह अरविंद केजरीवाल के साथ रहे। पेश से वकील होने के चलते लोकपाल बिल ड्राफ्ट करने में भी राघव चड्ढा ने अहम भूमिका निभाई थी। इसके साथ पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट चड्ढा पार्टी के सबसे युवा प्रवक्ता हैं और आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य भी हैं। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.