सवा करोड़ लूटने वाला दबोचा

सवा करोड़ लूटने वाला दबोचा, सिविल लाइन इलाके में गत दो मार्च को हुई 1.15 करोड़ की लूट की जांच से पुलिस काे लुटेरों के एक नए गिरोह पता चला है। पुलिस ने मामले में गिरोह के मास्टरमाइंड सिहित पांच आरोपितों को बृहस्पतिवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। इनसे पूछताछ के बाद कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं। इस गिरोह का सरगना बाबी वर्मा चांदनी चौक का पूर्व ज्वेलर है। उसने अपने चार साथियों कृष्ण कुमार उर्फ सचिन, शिवम गौर, तरुण सहगल उर्फ तन्नी और स्पर्श अग्रवाल के साथ मिलकर बाबी-कृष्ण नाम से यह गिरोह चार महीने पहले बनाया था। गत दो माह में इस गिराेह द्वारा लूट की तीन बड़ी वारदात को अंजाम दिया गया। जिसमें कुल 1.76 करोड़ रुपये लूटे गए। उत्तरी जिला पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से 1.26 करोड़ रुपये 10 लाख रुपये की ज्वेलरी, लूट की रकम से खरीदी गई दो स्कूटी बरामद की है।

दो माह में लूट की तीन वारदात को दिया अंजाम, कुल 1.76 करोड़ रुपये लूटे

उत्तरी जिले के पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी के मुताबिक, गिरफ्तार सभी आरोपित यमुनापार के रहने वाले हैं। दो मार्च की हुई वारदात के बाद पुलिस टीम ने सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच के आधार पर तीन संदिग्धों की पहचान की थी। बदमाशों के भागने की दिशा में लगे करीब 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की गई। सवा करोड़ लूटने वाला दबोचा, लोकल इंटेलिजेंस के साथ टेक्निकल सर्विलांस की भी मदद ली। पता चला कि यमुना पर के मौजपुर इलाके में कुछ लोगों ने भारी मात्रा में शराब खरीदी है और घर पर पार्टी कर रहे हैं। ऐसे में उक्त घर में छापेमारी की गई। जहां पर संदिग्ध युवक मिले हैं। उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो मामले में शामिल सभी आरोपितों का पता चला।

दुकान में नुकसान के बाद बनया लूट का गिरोह

आरोपित बाबी वर्मा पहले चांदनी चौक इलाके में ज्वेलरी की दुकान चलाता था। लेकिन, कारोबार में उसे नुकसान हुआ था। ऐसे में उसने अपने बचपन के दोस्तों के साथ मिलकर लूट का गिरोह बनाया। उसे पता था कि चांदनी चौक में आने जाने वाले बाइक व स्कूटी सवारों के पास भारी नकदी होती है। उसे यह भी पता था कि किस दुकान से कब-कब नकदी लेने वाले आते हैं। 1.15 करोड की लूट से पहले जनवरी और फरवरी में आरोपितों ने आइपी स्टेट और लाहौरी गेट में 20 व 40 लाख की लूट की दो वारदात को अंजाम दिया जा चुका है।

स्कूटी जाम में फंसने पर खुलवाया जाम

पुलिस अधिकारी ने बताया कि दो मार्च की शाम 1.15 करोड़ की लूट की घटना से कुछ देर पहले आरोपितों की स्कूटी जाम में फंस गई थी। ऐसे में आरोपितों ने जाम खुलवाया। इसके बाद अनाज कारोबारी के दो कर्मचारियों से रुपयों से भरा बैग लूटकर फरार हो गए। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.