सीख लें कीचड़ न उछालें कांग्रेसी

सीख लें कीचड़ न उछालें कांग्रेसी, पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 में बुरी तरह हार मिलने के बाद आज यहां कांग्रेस नेताओं की समीक्षा बैठक हो रही है। इसमें चन्‍नी सरकार में मंत्री रहे परगट सिंह ने कहा कि इस समय कांग्रेस के नेताओं को एक दूसरे पर कीचड़ नहीं उछालना चाहिए। हार से सबक लेकर आगे की रणन‍ीति बनाई जानी चाहिए। कांग्रेस भवन मेंआयोजित समीक्षा बैठक में पार्टी के प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी, पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और चरनजीत सिंह चन्नी भी पहुंचे। पहले इन तीनों नेताओं एक साथ बैठक की और इसके बाद अन्‍य नेता इसमेंं शामिल हुए। बाद मेंं चरणजीत सिंह चन्‍नी बैठक से चले गए। इस बीच बस्सी पठाना से कांग्रेस के उम्मीदवार गुरप्रीत सिंह जीपी ने कहा कि चन्नी को मुख्यमंत्री बना कर कांग्रेस ने सबसे बड़ी गलती की। राहुल गांधी को मिस गाइड किया गया। उन्होंने चन्नी को पार्टी से बर्खास्त करने की मांग की। उन्होंने कहा कि चन्नी ने मुझे हराने के लिए बस्सी पठाना में पांच करोड़ रुपये खर्च किए। जीपी ने कहा कि चन्नी केवल जाति से एससी है, वह गरीब नहीं है। खरड़ में उनका महल देख लें। जीपी ने कहा कि जो अपना परिवार नहीं संभाल सकते वह पंजाब को कैसे संभाल सकते। बैठक में परगट सिंह कहा, मैंने अपने जीवन मे बहुत जीत नकएर हार देखी है। ओलंपिक से लेकर राजनीति तक हार और जीत का क्रम रहा है। परगट ने कहा 1952 से जालंधर छावनी से कोई दूसरी बार चुनाव नहीं जीता। पहले कहते थे कोई भी एजुकेशन मंत्री नहीं जीता है, लेकिन मैं जीत गया। परगट ने कहा कि कई गलतियां हुई हैं। चरणजीत सिंह चन्नी अगर अपने भाई को नहीं बैठा सके तो उन्हें कहना चाहिए था। परगट ने कहा कि एक टीम के रूप में गलती हुई है। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.