सपा नेता व पत्नी की हत्या कर जमीन में गाड़ा,

बिजनौर में लापता चल रहे व्यापारी दंपती की हत्या कर उनके शव एक मकान में जमीन में गाड़ दिए गए। पुलिस ने जमीन से दोनों के शवों को निकाल लिया है। जिस मकान में शव मिले हैं, वह मकान व्यापारी के ब्यूटी पार्लर पर काम करने की वाली एक महिला का है। महिला ने अपने बेटे के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया है। पुलिस ने मां-बेटे के अलावा दो अन्य हत्यारोपितों को भी पकड़ लिया गया है।

अचानक हो गए थे लापता

शहर के शिवलोक कालोनी निवासी राजेश अग्रवाल समाजवादी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव थे। उनकी पत्नी बबली का शक्ति चौक पर ब्यूटी पार्लर है। पार्लर में कई अन्य लड़कियां भी काम करती हैं। 28 फरवरी को राजेश और उसकी पत्नी बबली अचानक लापता हो गए। दंपती को कोई औलाद नहीं है, इसलिए उनके बारे में शुरुआत में कई दिनों तक किसी को कोई पता नहीं चला। करीब एक हफ्ते बाद लगातार मोबाइल बंद रहने से राजेश के रिश्तेदारों को कुछ शक हुआ, उनकी खोजबीन शुरू की गई।

सख्‍ती से पूछताछ पर उगली सच्‍चाई

शुक्रवार को बबली का भाई कुछ सपा के पदाधिकारियों के साथ एसपी से मिला और किसी अनहोनी की आशंका जताई। इसके बाद शहर कोतवाली पुलिस मामले की जांच में जुटी। पुलिस शुक्रवार रात ब्यूटी पार्लर पर काम करने वाली गांव हमीरपुर निवासी रूमा तक पहुंची। शक होने पर उसके बेटे को भी हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की गई। दोनों ने स्वीकार कर लिया कि उन्होंने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर दंपती की हत्या कर दी है और शवों को हमीरपुर में अपने घर के अंदर गड्ढा खोदकर दबा दिया है। पुलिस ने जमीन से शवों को निकाल लिया है। मां-बेटे के अलावा दो अन्य हत्यारोपितों को भी पकड़ लिया गया है।

प्रॉपर्टी पर कब्जा करना चाहती थी रूमा

ब्यूटी पार्लर पर काम करने वाली रूमा के पति की काफी समय पहले ही मौत हो गई थी। पुलिस का कहना है कि रूमा के घर का खर्च पार्लर से ही चल रहा था। रूमा का दंपती के घर भी आना-जाना था। रूमा की नजर दंपती की प्रॉपर्टी पर भी थी। उसे लगा कि दंपती की हत्या कर दी जाए तो किसी को कोई पता नहीं चलेगा और उनके मकान और पार्लर पर आसानी से कब्जा कर लेगी। पूछताछ में महिला ने राजेश से संबंध होने की बात भी स्वीकारी है।

@Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.