ताकि सलामत रहे देश का भविष्य, कैंट स्थित गुरूकुल पब्लिक स्कूल जो भारतीय संस्कृति व सभ्यता से ओतप्रोत है, वहां आने वाले छोटे छोटे बच्चे जो कल के भारत का भविष्य हैं उन्हें योग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है ताकि वह खुद भी पूरी तरह से स्वस्थ्य रहे और अपने परिवार उसके बाद पड़ौस, शहर, प्रदेश और फिर एक स्वस्थ्य राष्ट्र की परिकल्पना को साकार करने में मददगार साबित हो सकें। यह सब संभव हो सका, देश के कई अग्रीम मोर्चों पर अलग-अलग मौकों पर दुश्मनों के दांत खट्टे कर देने वाले कर्नल देवेन्द्र मुलतानी की एक छोटी सी लेकिन काफी पहले की गई शुरूआत से जो आज एक बड़ा बट वृक्ष बनने जा रही है।

इस गुरूकुल में बच्चों को योग की शिक्षा देने का दायित्व यहां गुरूकुल की प्रिंसिपल इंदिरा कौर का है। प्रिंसिपल ने बताया कि  गुरूकुल पब्लिक स्कूल में बच्चों को योग का प्रशिक्षण दिया जाता है। प्रशिक्षणार्थियों में असीम उत्साह है। बच्चे योग बड़ी सरलता से ग्रहण करते हैं और असीम रुचि का प्रदर्शन करते हैं। योग बच्चों में विद्या ग्रहण करने की क्षमता को बढ़ावा देता है। योग का प्रशिक्षण जानी मानी श्रीमती प्रीति कपूर करवाती हैं। वह गुरुकुल पब्लिक स्कूल में विद्या प्रधान करती हैं। योग संचालन श्रीमती इनदीरा कौर, प्रिंसिपल, की देखरेख में होता है। श्रीमती इनदीरा कौर का विश्वास है की स्वस्थ शरीर बैरन को स्वस्थ रखता है तथा विद्या ग्रहण करना आनन्दमय बना देता है। उन्होंने जानकारी दी कि छोटे छोटे मासूम से दिखाई देने वाले ये कल के भारत के नौनिहाल योग की शिक्षा बेहद सरलता से ग्रहण कर रहे हैं। योग में शिक्षा ही ग्रहण नहीं कर रहे हैं बल्कि पारंगत हो रहे हैं। योग के कठिन से कठिन आसन ये बच्चे बेहद सरलता से कर लेते हैं। लेकिन यह सब इतना आसान नहीं था इसके लिए प्रिंसिपल को खुद कड़ी मेहनत करनी पड़ी। साथ ही इन बच्चाें को उसके अनुरूप ढालना भी सिखाया। इन छोटे-छोटे मासूम से दिखने वाले बच्चों को देखकर कोई यकीन नहीं करेगा कि ये बच्चे कठिन से कठिन योग के आसन सरलता से कर लेते हैं।

@Back Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.