तैयार रहे रैपिड के सफर को

तैयार रहे रैपिड के सफर को, मेरठ से दिल्ली जाने को बसों में धक्के खाकर थक चुके हो तो अब एयर कंडिशन रैपिड में सफर के लिए तैयार हो जाइये। मेरठ से दिल्ली रैपिड में सफर आपको और भी करीब आ गया है। दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ रैपिड रेल कॉरिडोर अगले साल मार्च में शुरू हो जाएगा। इसके बाद पहले चरण में साहिबाबाद से दुहाई गांव के बीच रैपिड रेल चलने लगेगी। यह खंड 17 किलोमीटर लंबा है। इसके 6 महीने बाद मुरादनगर से मेरठ के परतापुर तक रैपिड रेल चलाने की तैयारी है। तीसरा खंड इसके बाद साहिबाबाद से दिल्ली के बीच शुरू होगा। वर्ष 2025 में सबसे आखिरी में रैपिड रेल मेरठ शहर के अंदर चलने शुरू होगी। एनसीआरटीसी के एमडी विनय कुमार सिंह ने बुधवार को रैपिड रेल परियोजना की प्रगति से अवगत कराया। तैयार रहे रैपिड के सफर को, उन्होंने बताया कि प्राथमिक खंड साहिबाबाद से दुहाई गांव तक सिविल का कार्य पूरा कर 90 फीसदी पूरा हो गया है। अगले दो माह में रेल के कोच आने शुरू हो जाएंगे, इनका निर्माण गुजरात में कराया जा रहा है। मई से ट्रायल का काम शुरू होने लगेगा। दिसंबर में फुल ट्रायल किया जाएगा। इसके हर छह माह बाद रैपिड रेल के सभी खंड एक-एक करके खोले जाएंगे। रैपिड रेल 5 से 10 मिनट के अंतराल में चलेंगी। रात में केवल 6 घंटे के लिए रैपिड रेल सेवा को बंद रखा जाएगा। रैपिड रेल के कोच का मॉडल भी दिखाया गया। सभी कोच वातानुकूलित होंगे और उनमें सभी सुविधाएं यात्रियों को मिलेंगी। इन कोचों में वाई-फाई और चार्जिंग पॉइंट भी जगह-जगह पर दिए गए हैं। रैपिड रेल 180 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी। ब्रेक लगाते समय ट्रेन में झटका भी नहीं लगेगा। ट्रेन संचालन का पूरा सिस्टम कंप्यूटराइज रहेगा। यदि कोच में सवारी नहीं है तो ऑटोमेटिक उसकी लाइट अपने आप बंद हो जाएंगी। @Back To Home

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.