विवि में दो दिनी वेबिनार, प्राचीन भारतीय संचार प्रणाली में लोेकगीत एवं लोकनृत्यों की भूमिका महत्वपूर्ण रही है। अपने शब्दों, लोक संगीत तथा हाव भाव के माध्यम से अपनी संवेदनाओं की अभिव्यक्ति के द्वारा लोगों को आकर्षित करने में ये भाव-भंगीकाएं हमेशा प्रभावकारी थी, इन्हीं लोक नाटयों की शैली में छाऊ नृत्य भी प्रभावी थे।  यह बात मुख्य वक्ता विक्रांत किशोर, निदेशक, डिपार्टमेंट ऑफ मीडिया एंड मॉस कम्यूनिकेशन डेकिन विश्वविद्यालय, मेलबर्न, ऑस्ट्रेलिया ने प्राचीन भारतीय संचार विधि और समकालीन संचार परिदृश्य में इसकी प्रासंगिकता के विषय पर तिलक पत्रकारिता एवं जनसंचार स्कूल चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित दो दिवसीय वेबिनार के उदघाटन सत्र में कही।
मुख्य अतिथि प्रो0 संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि नाटक को भारतीय दर्शन में काव्य कहा जाता है। काव्य में साहित्य और समाज का समावेश होता है। मनुष्य एक सामाजिक प्राणी के साथ-साथ संचारी प्राणी है। जिज्ञासा मानव का मूल स्वभाव है।  विशिष्ट अतिथि कला संकायाध्यक्ष प्रो0 नवीन चंद्र लोहानी ने कहा कि इस प्रकार के वेबिनारों से छात्रों को बहुत लाभ होता है। बहुत सी नई जानकारियों से रूवरू होते हैं। प्रो0 प्रशांत कुमार निदेशक तिलक पत्रकारिता एवं जनसंचार स्कूल ने सभी का स्वागत किया, डॉ0 मनोज श्रीवास्तव ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन बीनम यादव ने किया। इस अवसर विभाग के विद्यार्थी, शिक्षक व कर्मचारी उपस्थित थे। वहीं पहले टेक्निकल सेशन में अध्यक्षता प्रो0 अतीश पाराशर हेड एंड डीन डिपार्टमेंट ऑफ जर्नलिज्म एंड मॉस कम्यूनिकेशन सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार, प्रो0 सचिन बत्रा डीन/ प्रिंसीपल एनआईएमएस इंस्टीटयूट ऑफ जर्नलिज्म एंड मॉस कम्यूनिकेशन एनआईएमएस यूनिवर्सिटी जयपुर ने की। मुख्य वक्ता डॉ0 पवन सिंह मलिक एसोसिएट प्रोफेसर जेसी बोस यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी वाईएमसीए फरीदाबाद थे। जबकि सेशन कॉर्डिनेटर अपेक्षा चौधरी असिस्टेंट प्रोफेसर इंस्टीटयूट ऑफ लीगल स्टडीज चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ रही। मनु कौशिक, गिरीश कुमार, हरिओम कुमार, प्रमोद पांडे, सीमा शिवेंद्र ने रिसर्च पेपर पढे। वहीं दूसरे टेक्निकल सेशन में अध्यक्षता प्रो0 आशीष जोशी हेड डिपार्टमेंट ऑफ मॉस कम्यूनिकेशन माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय, भोपाल तथा डॉ0 जीके साहू एसोसिएट प्रोफेसर डिपार्टमेंट ऑफ मॉस कम्यूनिकेशन अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय अलीगढ ने की। मुख्य वक्ता डॉ0 साकेत रमण असिस्टेंट प्रोफेसर डिपार्टमेंट ऑफ मीडिया स्टडीज महात्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी मोतिहारी बिहार रहे। जबकि सेशन कॉर्डिनेटर डॉ0 नेहा गर्ग असिस्टेंट प्रोफेसर इंस्टीटयूट ऑफ बिजनेस स्टडीज चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ रही।। दूसरे टेक्निकल सेशन में प्रतीक्षा, तरूण ठाकुर, चंद्रशेखर , कुन शर्मा ने रिसर्च पेपर पढे।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *