योगी से मिलने दौड़ती लखनऊ पहुंची काजल, खेल संसाधन मुहैया कराने की मांग नहीं पूरी होने पर प्रयागराज से मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से मिलने के लिए पैदल रवाना हुई 10 साल की काजल बिंद शुक्रवार की सुबह तक लखनऊ पहुंच गई है। इस बीच उसके इस मैराथन विरोध का असर दिखा है। काजल को 17 अप्रैल को मुख्यमंत्री से मिलना है। इससे पहले काजल की मदद के लिए प्रयागराज डीएम संजय कुमार खत्री ने पहल की है। उन्होंने कहा है कि वह काजल को 5100 रुपये और एथलेटिक्स किट देंगे। दस साल की काजल बिंद 10 अप्रैल दिन मंगलवार सुभाष चौराहे प्रयागराज से अपनी दौड़ की शुुरूआत की। 11 की रात वह कुंडा में विधायक राजा भैया के निवास पर ठहरी। फिर 12 अप्रैल मंगलवार की सुबह लखनऊ के लिए दौड़ पड़ी। 17 अप्रैल सीएम आदित्यनाथ योगी से मिलेगी। साथ में उसके चाचा व कोच रजनीकांत भी है। वह दौड़ते हुए शुक्रवार सुबह 6:00 बजे पीजीआई क्षेत्र के हैबत मऊ मवाईया पहुंची। बता दें कि प्रयागराज में मांडा ब्लाक के गांव ललितपुर निवासी रेलकर्मी नीरज कुमार बिंद की बेटी काजल बिंद कम उम्र में भी धावक का रिकार्ड बना रही है। वह प्रयागराज से दिल्ली तक की दौड़ लगा चुकी है। उसने इंदिरा मैराथन में भी दौड़ लगाई थी लेकिन 18 साल से कम उम्र का होने की वजह से उसका पंजीकरण नहीं किया गया था। काजल और उस के कोच इसी बात से नाराज हैं। इस बीच खेल संसाधन मुहैया कराने की मांग को लेकर उसने लखनऊ की दौड़ लगा दी। पीजीआई के आसपास सुबह टहल रहे लोगों ने इस बच्ची को हाथ में तिरंगा लिए दौड़ते हुए देखा तो वह पहले तो कुछ समझ नहीं पाए फिर उससे बातचीत की और जब उसकी पूरी बात सुनी तो उसके हौसले को पढ़ाते हुए उसके साथ फोटो खिंचवाई।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.