योगी व केशव एक ही गाड़ी से, नई दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद व गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मंगलवार को कैबिनेट बैठक के लिए जाते समय भी एक साथ नजर आए। दोनों एक ही गाड़ी में बैठकर एनेक्सी पहुंचे। मुख्यमंत्री योगी आगे की सीट पर बैठे हुए थे जबकि केशव पीछे बैठे थे। इसका वीडियो आने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार लगातार दूसरी बार बनने के बाद यह पहली कैबिनेट बैठक थी जिसमें कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। यह पहला मौका था जब मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री एक ही कार में थे। मंगलवार को एनेक्सी में कैबिनेट बैठक का आयोजन किया गया था। इसके लिए उप मुख्यमंत्री व मंत्री पहुंच रहे थे। तभी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एक गाड़ी से एनेक्सी पहुंचे और बैठक के कमरे की तरफ बढ़ गए। प्रदेश में भाजपा 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए पूरी शिद्दत से अभी से तैयारियों में जुट गई है। सरकार ऐसा कोई संदेश नहीं देना चाहती जिससे कार्यकर्ताओं को नकारात्मक संदेश जाए।

पाकिस्तानी विस्थापितों को योगी गिफ्ट

पूर्वी पाकिस्तान से आए हिंदू बंगाली परिवारों के लोगों को पुनर्वास योजना के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सौगात दी है। इन परिवारों को योगी सरकार द्वारा दो एकड़ कृषि भूमि का पट्टा और 200 मीटर का आवासीय पट्टा के साथ मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत घर दिया जा रहा है। इन्हें शासन की अन्य सभी योजनाओं से भी आच्छादित किया जाएगा। लोकभवन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी ने इन परिवारों को पुनर्वास प्रमाण पत्र सौंपा। 1970 में बांग्लादेश से आये विस्थापित 407 हिन्दू परिवारों में से 332 को देश के अलग अलग हिस्सों में रखा गया था। मदन सूत मिल्स हस्तिनापुर में इन्हें पुनर्वासित किया गया था लेकिन 1984 में मिल्स बंद होने के कारण ये लोग सब बेसहारा हो गए थे। किसी सरकार ने इनकी सुध नहीं ली। 2017 में यूपी में भाजपा की सरकार बनी तो प्रक्रिया शुरु की गई।

Share

By editor1

Leave a Reply

Your email address will not be published.